गाना / Title: बुझा दिये हैं खुद अपने हाथों - bujhaa diye hai.n khud apane haatho.n

चित्रपट / Film: शगुन-(Shagun)

संगीतकार / Music Director: खय्याम-(Khaiyyam)

गीतकार / Lyricist: साहिर लुधियानवी-(Sahir Ludhianvi)

गायक / Singer(s): सुमन कल्याणपुर-(Suman Kalyanpur)

Lyrics in English - ASCII
देवनागरी बोल :
बुझा दिये हैं खुद अपने हाथों, मोहब्बतों के दिये जला के
मेरी वफ़ा ने उजाड़ दी हैं, उम्मीद की बस्तियाँ बसा के

तुझे भुला देंगे अपने दिल से, ये फ़ैसला तो किया है लेकिन
न दिल को मालूम है न हम को, जियेंगे कैसे तुझे भुला के

कभी मिलेंगे जो रासते में, तो मुँह फिरा कर पलट पड़ेंगे
कहीं सुनेंगे जो नाम तेरा, तो चुप रहेंगे नज़र झुका के

न सोचने पर भी सोचती हूँ, के ज़िन्दगानी में क्या रहेगा
तेरी तमन्ना को बस में कर के, तेरे खयालों से दूर जाके

Lyrics in Unicode - Devanagari
Lyrics:
bujhaa diye hai.n khud apane haatho.n, mohabbato.n ke diye jalaa ke
merii vafaa ne ujaa.D dii hai.n, ummiid kii bastiyaa.N basaa ke

tujhe bhulaa de.nge apane dil se, ye faisalaa to kiyaa hai lekin
na dil ko maaluum hai na ham ko, jiye.nge kaise tujhe bhulaa ke

kabhii mile.nge jo raasate me.n, to mu.Nh phiraa kar palaT pa.De.nge
kahii.n sune.nge jo naam teraa, to chup rahe.nge nazar jhukaa ke

na sochane par bhii sochatii huu.N, ke zindagaanii me.n kyaa rahegaa
terii tamannaa ko bas me.n kar ke, tere khayaalo.n se duur jaake

Related content: