गाना / Title: यहाँ बदला वफ़ा का बेवफ़ाई के सिवा क्या है - yahaa.N badalaa vafaa kaa bevafaaii ke sivaa kyaa hai

चित्रपट / Film: Jugnu

संगीतकार / Music Director: Firoz Nizami

गीतकार / Lyricist: Tanvir Naqvi

गायक / Singer(s): Noorjehanमोहम्मद रफ़ी-(Mohammad Rafi)

Lyrics in English - ASCII
देवनागरी बोल :
          



र: यहाँ बदला वफ़ा का बेवफ़ाई के सिवा क्या है
    मोहब्बत करके भी देखा, मोहब्बत में भी धोका है

नू: कभी सुख है, कभी दुख है, अभी क्या था, अभी क्या है
    यूँ ही दुनिया बदलती है, इसी का नाम दुनिया है
    कभी सुख है, कभी दुख है, अभी क्या था, अभी क्या है
    तड़पने भी नहीं देती, हमें मजबूरियाँ अपनी

र: मोहब्बत करने वालों का तड़पना किसने देखा है
    यहाँ बदला वफ़ा का बेवफ़ाई के सिवा क्या है

नू: यूँ ही दुनिया बदलती है, इसी का नाम दुनिया है
    कभी सुख है, कभी दुख है, अभि क्या था, अभी क्या है
र: मोहब्बत करके भी देखा, मोहब्बत में भी धोका है
नू: भुला दो वो ज़माना जब मुझे अपना बनाया था
र: भुला दो मुँह में उल्फ़त जब तुम्हारे लब पे आया था
नू: भुला दो वो कसम जो दिलाई थी कभी तुमने
र: भुला दो वो कसम जो कि खाई थी कभी तुमने
नू: भुला दो दिल से तुम गुज़रे हुए रँगीन ज़माने को
र: भुला दो, हाँ भुला दो इश्क़ के सज़ा फ़साने को
नू: तमन्नाओं की बस्ती में, अंधेरा ही अंधेरा है
र: किसे अपना कहूँ कोई जो अपना था पराया है
नू: यूँ ही दुनिया बदलती है, इसी का नाम दुनिया है
    कभी सुख है, कभी दुख है, अभी क्या था, अभी क्या है
र: मोहब्बत करने वालों का तड़पना किसने देखा है
    यहाँ बदला वफ़ा का बेवफ़ाई के सिवा क्या है
    यहाँ बदला ...



        

Related content:

Lyrics in Unicode - Devanagari
Lyrics:
      

ra: yahaa.N badalaa vafaa kaa bevafaaii ke sivaa kyaa hai
    mohabbat karake bhii dekhaa, mohabbat me.n bhii dhokaa hai

nU: kabhii sukh hai, kabhii dukh hai, abhii kyaa thaa, abhii kyaa hai
    yuu.N hii duniyaa badalatii hai, isii kaa naam duniyaa hai
    kabhii sukh hai, kabhii dukh hai, abhii kyaa thaa, abhii kyaa hai
    ta.Dapane bhii nahii.n detii, hame.n majabuuriyaa.N apanii

ra: mohabbat karane vaalo.n kaa ta.Dapanaa kisane dekhaa hai
    yahaa.N badalaa vafaa kaa bevafaaii ke sivaa kyaa hai

nU: yuu.N hii duniyaa badalatii hai, isii kaa naam duniyaa hai
    kabhii sukh hai, kabhii dukh hai, abhi kyaa thaa, abhii kyaa hai
ra: mohabbat karake bhii dekhaa, mohabbat me.n bhii dhokaa hai
nU: bhulaa do vo zamaanaa jab mujhe apanaa banaayaa thaa
ra: bhulaa do mu.Nh me.n ulfat jab tumhaare lab pe aayaa thaa
nU: bhulaa do vo kasam jo dilaaii thii kabhii tumane
ra: bhulaa do vo kasam jo ki khaaii thii kabhii tumane
nU: bhulaa do dil se tum guzare hue ra.Ngiin zamaane ko
ra: bhulaa do, haa.N bhulaa do ishq ke sazaa fasaane ko
nU: tamannaao.n kii bastii me.n, a.ndheraa hii a.ndheraa hai
ra: kise apanaa kahuu.N koii jo apanaa thaa paraayaa hai
nU: yuu.N hii duniyaa badalatii hai, isii kaa naam duniyaa hai
    kabhii sukh hai, kabhii dukh hai, abhii kyaa thaa, abhii kyaa hai
ra: mohabbat karane vaalo.n kaa ta.Dapanaa kisane dekhaa hai
    yahaa.N badalaa vafaa kaa bevafaaii ke sivaa kyaa hai
    yahaa.N badalaa ...