LyricsIndia.net

Hey, want to try making your own Karaoke from any youtube track? Check out some samples on our new beta website Pruthak (meaning: separate) which can split a track into vocals, drums, bass, piano!

गाना / Title: अपने देश की मिटटी - apane desh ki mitti ki khushbu (Bose)

चित्रपट / Film: नेताजी सुभाष चंद्र बोस-(Netaji Subhash Chandra Bose - The Forgotten Hero)

संगीतकार / Music Director: ए. आर. रहमान-(A. R. Rahman)

गीतकार / Lyricist: जावेद अख्तर-(Javed Akhtar)

गायक / Singer(s): Anuradha Shriramसोनु निगम-(Sonu Nigam)

शेअर करें / Share Page

Lyrics in English - ASCII
देवनागरी बोल :
मुझे याद आती हैं - (2)
अपने देश की मिटटी की खुशबु मुझे याद आती हैं - (2)
कभी बहलाती हैं, कभी तड़पाती हैं - (2)
मुझे याद आती है ओ ओ ओ अपने देश की मिट्टी
अपने देश की मिटटी की खुशबु मुझे याद आती हैं

बीते पल छूने लगे हैं दिल को ऐसे
दोस्त रखे हाथ कंधे पे जैसे
कैसी यह किरणे ऐसी छाँ रही है
कैसी तस्बीरे सी बन रही है
कितने मौसम याद में है आते जाते
बारिश आयी खो गए है काले छाते
दिन है अलसाये हुए जो आयी गर्मी
सर्दियों की धुप में है कैसी नरमी
पल पल इक समय की नदिया है जो बहती जाती है
अपने देश की मिटटी की खुशबु मुझे याद आती हैं

पिघले तन्हाईयों के जो है अँधेरे
जगमगाने से लगे है कितने चेहरे
एक लोरी है एक लाल बिंदिया लौट आयी है मेरे बचपन की निंदिया
वह कोई इकतारे पे कबसे गा रहा है
कोई आँचल जाने क्यूँ लहरा रहा है
हर घडी नयी बात इक याद आ रही है
दिल में पगडण्डी सी जैसे बन गयी हैं
यह पगडण्डी मेरे दिल से मेरे देश जाती हैं
अपने देश की मिटटी की खुशबु मुझे याद आती हैं - (२) 

Lyrics in Unicode - Devanagari
Lyrics:
mujhe yaad aati hain - (2)
apane desh ki mitti ki khushbu mujhe yaad aati hain - (2)
kabhi behlaati hain, kabhi tadpaati hain - (2)
mujhe yaad aati hai o o o apane desh ki miitti
apane desh ki mitti ki khushbu mujhe yaad aati hain

beete pal chhune lage hain dil ko aise
dost rakhe haath kandhe pe jaise
kaisi yeh kirane aisi chha.n rahi hai
kaisi tasbeere si ban rahi hai
kitane mausam yaad mein hai aate jaate
baarish aayi kho gaye hai kaale chhaate
din hai alsaaye huye jo aayi garmi
sardiyon ki dhup mein hai kaisi narmi
pal pal ik samay ki nadiya hai jo behati jaati hai
apane desh ki mitti ki khushbu mujhe yaad aati hain

pighale tanhaayiyon ke jo hai andhere
jagmagaane se lage hai kitane chehare
ek lori hai ek laal bindiya, laut aayi hai mere bachpan ki nindiya
woh koyi iktaare pe kabse ga raha hai
koyi aanchal jaane kyun lehara raha hai
har ghadi nayi baat ik yaad aa rahi hai
dil mein pagdandi si jaise ban gayi hain
yeh pagdandi mere dil se mere desh jaati hain
apane desh ki mitti ki khushbu mujhe yaad aati hain - (2)
mujhe yaad aati hain

कुछ और सुझाव / Related content: