LyricsIndia.net

गाना / Title: हर घड़ी बदल रही है रूप ज़िंदगी - Har Ghadi Badal Rahi Hai (Kal Ho Na Ho)

चित्रपट / Film: Kal Ho Na Ho

संगीतकार / Music Director: शंकर-एहसान-लॉय-(Shankar-Ehsaan-Loy)

गीतकार / Lyricist: जावेद अख्तर-(Javed Akhtar)

गायक / Singer(s): सोनु निगम-(Sonu Nigam)

शेअर करें / Share Page

Lyrics in English - ASCII
देवनागरी बोल :
हर घड़ी बदल रही है रूप ज़िंदगी
छाँव है कभी कभी है धूप ज़िंदगी
हर पल यहाँ जी भर जियो
जो है समाँ कल हो न हो

चाहे जो तुम्हें पूरे दिल से
मिलता है वह मुश्किल से
ऐसा जो कोई कहीं है
बस वही सबसे हसीं है
उस हाथ को तुम थाम लो
वह मेहरबाँ कल हो न हो

हर पल यहाँ जी भर जियो
जो है समाँ कल हो न हो

पलकों के ले के साये
पास कोई जो आये
लाख सम्भालो पागल दिल को
दिल धड़के ही जाये
पर सोच लो इस पल है जो
वो दास्ताँ कल हो न हो

हर घड़ी बदल रही है रूप ज़िंदगी
छाँव है कभी कभी है धूप ज़िंदगी
हर पल यहाँ जी भर जियो
जो है समाँ कल हो न हो

हर पल यहाँ जी भर जियो
जो है समाँ कल हो न हो

जो है समाँ कल हो न हो

Lyrics in Unicode - Devanagari
Lyrics:
har gha.Dii badal rahii hai ruup zi.ndagii
chhaa.Nv hai kabhii kabhii hai dhuup zi.ndagii
har pal yahaa.N jii bhar jiyo
jo hai samaa.N kal ho na ho

chaahe jo tumhe.n puure dil se
milataa hai vah mushkil se
aisaa jo ko_ii kahii.n hai
bas vahii sabase hasii.n hai
us haath ko tum thaam lo
vah meharabaa.N kal ho na ho

har pal yahaa.N jii bhar jiyo
jo hai samaa.N kal ho na ho

palako.n ke le ke saaye
paas ko_ii jo aaye
laakh sambhaalo paagal dil ko
dil dha.Dake hii jaaye
par soch lo is pal hai jo
vo daastaa.N kal ho na ho

har gha.Dii badal rahii hai ruup zi.ndagii
chhaa.Nv hai kabhii kabhii hai dhuup zi.ndagii
har pal yahaa.N jii bhar jiyo
jo hai samaa.N kal ho na ho

har pal yahaa.N jii bhar jiyo
jo hai samaa.N kal ho na ho

jo hai samaa.N kal ho na ho

कुछ और सुझाव / Related content: