LyricsIndia.net

गाना / Title: किस्मत से तुम - Kismat se tum humko mile ho (Pukar)

चित्रपट / Film: पुकार-(Pukar)

संगीतकार / Music Director: ए. आर. रहमान-(A. R. Rahman)

गीतकार / Lyricist: जावेद अख्तर-(Javed Akhtar)

गायक / Singer(s): अनुराधा पौडवाल-(Anuradha Paudwal)सोनु निगम-(Sonu Nigam)

राग / Raag: Bhimpalasi

शेअर करें / Share Page

Lyrics in English - ASCII
देवनागरी बोल :
किस्मत से तुम हमको मिले हो
कैसे छोड़ेंगे
किस्मत से तुम हमको मिले हो
कैसे छोड़ेंगे
फिर से बंटी तक़्दीरों को
अरमानों की ज़ंजीरों को
जानम अब न तोड़ेंगे

किस्मत से तुम हमको मिले हो
कैसे छोड़ेंगे
फिर से बंटी तक़्दीरों को
अरमानों की ज़ंजीरों को
जानम अब न तोड़ेंगे
किस्मत से तुम हमको मिले हो
कैसे छोड़ेंगे
क्या कहूँ कैसे लगते है दिल पे जुल्फों के साये
कोई भूला राही जैसे मंज़िल पा जाए
या कोई दिल तूफ़ान का मारा
दर्द की लहरों में आवारा

कोई प्यारा प्यार के साये पा जाए

किस्मत से तुम हमको मिले हो
कैसे छोड़ेंगे
टुकड़े दिल के हम तुम मिलके
फिर से जोड़ेंगे

फिर से बंटी तक़्दीरों को
अरमानों की ज़ंजीरों को
जानम अब न तोड़ेंगे

यूँ शरमाती यूँ घबराती ऐसे सिम्ति सिमतायी
ओ मेरे बालम यूँही नहीं मैं जाते जाते लौट आयी हूँ
प्रीत मेरी पहचानी तूने
मेरी कद्र तो जानि तूने

अब दिल जागा होश में चाहत अब आयी

किस्मत से तुम हमको मिले हो
कैसे छोड़ेंगे

टुकड़े दिल के हम तुम मिलके
फिर से जोड़ेंगे

फिर से बंटी तक़्दीरों को
अरमानों की ज़ंजीरों को
जानम अब न तोड़ेंगे

किस्मत से तुम हमको मिले हो
कैसे छोड़ेंगे

Lyrics in Unicode - Devanagari
Lyrics:
Kismat se tum humko mile ho
Kaise chhodenge, yeh haath hum na chhodenge
Kismat se tum humko mile ho
Kaise chhodenge, yeh haath hum na chhodenge
Phir se banti taqdeeron ko
Armaanon ki zanjeeron ko
Jaanam ab na todenge


Kismat se tum humko mile ho
Kaise chhodenge, yeh haath hum na chhodenge
Phir se banti taqdeeron ko
Armaanon ki zanjeeron ko
Jaanam ab na todenge
Kismat se tum humko mile ho
Kaise chhodenge, yeh haath hum na chhodenge
Kya kahoon kaise lagte hai dil pe zulfon ke saaye
Koi bhoola raahi jaise manzil paa jaaye
Ya koi dil toofaan ka maara
Dard ki laheron mein aawaara


Koi pyaara pyaar ke saaye paa jaaye


Kismat se tum humko mile ho
Kaise chhodenge, yeh haath hum na chhodenge
Tukde dil ke hum tum milke
Phir se jodenge, yeh sheesha phir se jodenge


Phir se banti taqdeeron ko
Armaanon ki zanjeeron ko
Jaanam ab na todenge


Yun sharmaati yun ghabraati aise simti simtaayi
O mere baalam yunhi nahin main jaate jaate laut aayi hoon
Preet meri pehchaani tune
Meri kadr to jaani tune


Ab dil jaaga hosh mein chaahat ab aayi


Kismat se tum humko mile ho
Kaise chhodenge, yeh haath hum na chhodenge


Tukde dil ke hum tum milke
Phir se jodenge, yeh sheesha phir se jodenge


Phir se banti taqdeeron ko
Armaanon ki zanjeeron ko
Jaanam ab na todenge


Kismat se tum humko mile ho
Kaise chhodenge, yeh haath hum na chhodenge

कुछ और सुझाव / Related content: