गाना / Title: अपना टाइम आएगा - Apna Time Aayega

चित्रपट / Film: गल्ली बाॅय-(Gully Boy)

संगीतकार / Music Director: अंकुर तिवारी-(Ankur Tewari)

गीतकार / Lyricist: अंकुर तिवारी-(Ankur Tewari)

गायक / Singer(s): रणवीर सिंग-(Ranveer Singh)

Lyrics in English - ASCII
देवनागरी बोल :
कौन बोला मुझसे ना हो पायेगा?
कौन बोला, कौन बोला?

अपना टाइम आएगा!

उठ जा अपनी राख से तू
उठ जा अब तलाश में
परवाज़ देख परवाने की
असमान भी सर उठाएगा
आएगा अपना टाइम आएगा

मेरे जैसा शाणा लाला
तुझे ना मिल पायेगा
ये शब्दों का ज्वाला
मेरी बेड़ियाँ पिघलायेगा
जितना तूने बोया है
तू उतना ही तो खायेगा
ऐसा मेरा ख्वाब है
जो डर को भी सताएगा
जिंदा मेरा ख्वाब
अब कैसे तू दफनायेगा

अब हौसले से जीने दे
अब खौफ नहीं है सीने में
हर रास्ते को चीरेंगे
हम कामयाबी छीनेंगे
सब कुछ मिला पसीने से
मतलब बना अब जीने में
क्यूँ?

क्यूंकि अपना टाइम आएगा
तू नंगा ही तो आया है
क्या घंटा लेकर जाएगा

अपना टाइम आएगा
अपना टाइम आएगा
अपना टाइम आएगा
तू नंगा ही तो आया है
क्या घंटा लेकर जाएगा
अपना टाइम आएगा
अपना टाइम आएगा
अपना टाइम आएगा
तू नंगा ही तो आया है
क्या घंटा लेकर..

किसी का हाथ नहीं था सर पर
यहाँ पर आया खुदकी मेहनत से मैं
जितनी ताकत किस्मत में नहीं
उतनी रहमत में है
फिर भी लड़का सहमत नहीं है
क्यूंकि हैरत नहीं है
जरुरत यहाँ मर्ज़ी की और जुर्रत की है
दिक्कत की है, आफत की, हिमाकत की, इबादत की
अदालत ये है चाहत की
मोहब्बत की, अमानत की
जीतने की अब आदत की
अब शोहरत की, अब लालच नहीं है
तेरे भाई जैसा कोई हार्डी’च नहीं है
हार्ड, हार्ड, हार्ड..

इस हरकत ने ही बरकत दी है
क्यूँ?

क्यूंकि अपना टाइम आएगा
तू नंगा ही तो आया है
क्या घंटा लेकर जाएगा
अपना टाइम आएगा
अपना टाइम आएगा
अपना टाइम आएगा
तू नंगा ही तो आया है
क्या घंटा लेकर जाएगा
अपना टाइम आएगा
अपना टाइम आएगा
अपना टाइम आएगा
तू नंगा ही तो आया है
क्या घंटा लेकर जाएगा

कल नंगा ही तो आया था
क्या तू घंटा लेकर जाएगा
अपना टाइम आएगा
अपना टाइम आएगा

अपना टाइम आएगा ना
तू नंगा ही तो आया ना.

Lyrics in Unicode - Devanagari
Lyrics:
Kaun bola mujhse naa ho payega?
Kaun bola, Kaun bola?

Apna Time Aayega!

Uth ja apni raakh se
Tu udd ja ab talaash mein
Parwaaz dekh parwaane ki
Aasmaan bhi sar uthayega
Aayega, apna time aayega

Mere jaisa shaana lala
Tujhe na mil paayega
Ye shabdo ka jwaala
Meri bediyan pighlaayega
Jitna tune boya hai
Tu utna hi toh khaayega
Aisa mera khwaab hai
Jo dar ko bhi sataayega
Zinda mera khwab
Ab kaise tu dafnayega

Ab hausle se jeene de
Ab khauf nahi hai seene mein
Har raaste ko cheerenge
Hum kaamyabi cheenenge
Sab kuch mila paseene se
Matlab bana ab jeene mein
Kyun?

Kyunki apna time aayega
Tu nanga hi toh aaya hai
Kya ghanta lekar jaayega

Apna time aayega
Apna time aayega
Apna time aayega
Tu nanga hi toh aaya hai
Kya ghanta lekar jaayega
Apna time aayega
Apna time aayega
Apna time aayega
Tu nanga hi toh aaya hai
Kya ghanta lekar…

Kisi ka haath nahi tha sar par
Yahan par aaya khudki mehnat se main
Jitni taakat kismat mein nahi
Utni rehmat mein hai
Phir bhi ladka sehmat nahi hai
Kyunki hairat nahi hai
Zaroorat yahan marzi ki aur zurrat ki hai
Taakat ki hai, aafat ki, himaakat ki, Ibadat ki
Adaalat yeh hai chaahat ki
Mohabbat ki, amaanat ki
Jeetne ki ab aadat ki
Yeh shohrat ki, ab laalach nahi hai
Tere bhai jaisa koi hard’ich nahi hai
Hard, hard, hard…

Iss harkat ne hi barkat di hai
Kyun?

Kyunki apna time aayega
Tu nanga hi toh aaya hai
Kya ghanta lekar jaayega
Apna time aayega
Apna time aayega
Apna time aayega
Tu nanga hi toh aaya hai
Kya ghanta lekar…
Apna time aayega!
Apna time aayega!
Apna time aayega!
Tu nanga hi toh aaya hai

Kal nanga hi toh aaya tha
Kya tu ghanta lekar jaayega
Apna time aayega!
Apna time aayega!

Apna time aayega na
Tu nanga hi toh jayega na…

Related content: