LyricsIndia.net

गाना / Title: साक़िया, आज मुझे नींद नहीं आयेगी - Saqiya, Aaj Mujhe Neend Nahi Aayegi (Sahib Biwi Aur Ghulam)

चित्रपट / Film: साहिब बिबी और गुलाम-(Sahib Biwi Aur Ghulam)

संगीतकार / Music Director: हेमंत कुमार-(Hemant Kumar)

गीतकार / Lyricist: शकील बदायुनी-(Shakeel Badayuni)

गायक / Singer(s): आशा भोसले-(Asha Bhosale)

शेअर करें / Share Page

Lyrics in English - ASCII
देवनागरी बोल :
साक़िया, आज मुझे नींद नहीं आयेगी 
सुना है तेरी महफ़िल में रत जगा है
आँखों आँखों में यूँ ही रात गुजर जायेगी
सुना है तेरी महफ़िल में रत जगा है

साकी है और शाम भी, उल्फ़त का जाम भी
तकदीर है उसी की जो ले इन से काम भी

रंग-ए-महफील है रातभर के लिये
सोचना क्या अभी सहर के लिये
तेरा जलवा हो, तेरी सूरत हो
और क्या चाहीये नज़र के लिये
आज सूरत तेरी बेपर्दा नज़र आयेगी

मोहब्बत में जो मिट जाता है, वो कुछ कह नहीं सकता
ये वो कूचा है जिस में दिल सलामत रह नहीं सकता

किसकी दुनिया यहाँ तबाह नहीं
कौन है जिस के लब पे आह नहीं
हुस्न पर दिल ज़रूर आयेगा, इस के बचने की कोई राह नहीं
ज़िन्दगी आज नज़र मिलते ही लूट जाएगी

Lyrics in Unicode - Devanagari
Lyrics:
Saaqiya, aj mujhe nind nahin ayegi 
Suna hai teri mahafil men rat jaga hai
Ankhon ankhon men yun hi raat gujar jaayegi
Suna hai teri mahafil men rat jaga hai

Saaki hai aur shaam bhi, ulfat ka jaam bhi
Takadir hai usi ki jo le in se kaam bhi

Rng-e-mahafil hai raatabhar ke liye
Sochana kya abhi sahar ke liye
Tera jalawa ho, teri surat ho
Aur kya chaahiye najr ke liye
Aj surat teri beparda najr ayegi

Mohabbat men jo mit jaata hai, wo kuchh kah nahin sakata
Ye wo kucha hai jis men dil salaamat rah nahin sakata

Kisaki duniya yahaan tabaah nahin
Kaun hai jis ke lab pe ah nahin
Husn par dil jrur ayega, is ke bachane ki koi raah nahin
Zindagi aj najr milate hi lut jaaegi

कुछ और सुझाव / Related content: