LyricsIndia.net

गाना / Title: शर्म आती है मगर - Sharm Aati Hai Magar (Padosan)

चित्रपट / Film: पडोसन-(Padosan)

संगीतकार / Music Director: राहुलदेव बर्मन-(R D Burman)

गीतकार / Lyricist: Rajendra Krishan

गायक / Singer(s): लता मंगेशकर-(Lata Mangeshkar)

शेअर करें / Share Page

Lyrics in English - ASCII
देवनागरी बोल :
शर्म आती है मगर आज ये कहना होगा
अब हमें आपके कदमों ही रहना होगा

आप से रूठ के हम जितना जिये खांक जिये 
कई इल्ज़ाम लिये और कई इल्ज़ाम दिये 
आज के बाद मगर कुछ भी ना कहना होगा

देर के बाद ये समझे है मोहब्बत क्या है
अब हमें चाँद के झूमर की ज़रूरत क्या है
प्यार से बढ़के भला कौनसा गहना होगा

आप के प्यार का बीमार हमारा दिल है
आप के ग़म का खरीदार हमारा दिल है
आप को अपना कोई दर्द ना सहना होगा

Lyrics in Unicode - Devanagari
Lyrics:
Sharm ati hai magar aj ye kahana hoga
Ab hamen apake kadamon hi rahana hoga

Ap se ruthh ke ham jitana jiye khaank jiye 
Ki iljaam liye aur ki iljaam diye 
Aj ke baad magar kuchh bhi na kahana hoga

Der ke baad ye samajhe hai mohabbat kya hai
Ab hamen chaand ke jhumar ki jrurat kya hai
Pyaar se badhke bhala kaunasa gahana hoga

Ap ke pyaar ka bimaar hamaara dil hai
Ap ke gm ka kharidaar hamaara dil hai
Ap ko apana koi dard na sahana hoga

कुछ और सुझाव / Related content: