गाना / Title: दाइम पड़ा हुआ तेरे दर पर नहीं हूँ मैं - daa_im pa.Daa huaa tere dar par nahii.n huu.N mai.n

चित्रपट / Film: गैर फ़िल्म-(Non-Film)

संगीतकार / Music Director:

गीतकार / Lyricist: मिर्ज़ा गालिब-(Mirza Ghalib)

गायक / Singer(s): Ghulam Ali

Lyrics in English - ASCII
देवनागरी बोल :
दाइम पड़ा हुआ तेरे दर पर नहीं हूँ मैं
ख़ाक़ ऐसी ज़िंदगी पे, कि पत्थर नहीं हूँ मैं



क्यों गदर्इश-ए-मुदाम से घबरा न जाये दिल
इन्सान हूँ, प्याला-ओ-साग़र नहीं हूँ मैं




या रब ज़माना मुझको मिटाता है किस लिये
लौह-ए-जहाँ पे हर्फ़-ए-मुक़र्रर नहीं हूँ मैं




किस वास्ते अज़ीज़ नहीं जानते मुझे
लाल-ओ-ज़मुर्द-ओ-ज़र-ओ-गौहर नहीं हूँ मैं



करते हो मुझको मन-ओ-क़दम-बोस किस लिये
क्या आसमान के भी बराबर नहीं हूँ मैं

'ग़ालिब' वज़ीफ़ाख़्वार हो, दो शाह को दुआ
वो दिन गये कि कहते थे, नौकर नहीं हूँ मैं

Lyrics in Unicode - Devanagari
Lyrics:
daa_im pa.Daa huaa tere dar par nahii.n huu.N mai.n
Kaaq aisii zi.ndagii pe, ki patthar nahii.n huu.N mai.n



kyo.n gad.rish-e-mudaam se ghabaraa na jaaye dil
insaan huu.N, pyaalaa-o-saaGar nahii.n huu.N mai.n




yaa rab zamaanaa mujhako miTaataa hai kis liye
lauh-e-jahaa.N pe harf-e-muqarrar nahii.n huu.N mai.n




kis vaaste aziiz nahii.n jaanate mujhe
laal-o-zamurd-o-zar-o-gauhar nahii.n huu.N mai.n



karate ho mujhako man-o-qadam-bos kis liye
kyaa aasamaan ke bhii baraabar nahii.n huu.N mai.n

'Gaalib' vaziifaaKvaar ho, do shaah ko duaa
vo din gaye ki kahate the, naukar nahii.n huu.N mai.n

Related content: