LyricsIndia.net

Our tributes to Khaiyyam who passed away today. Listen to his immortal songs here.

गाना / Title: निकले थे कहाँ जाने के लिये - nikale the kahaa.N jaane ke liye

चित्रपट / Film: बहू बेगम-(Bahu Begum)

संगीतकार / Music Director: रोशन-(Roshan)

गीतकार / Lyricist: साहिर लुधियानवी-(Sahir Ludhianvi)

गायक / Singer(s): आशा भोसले-(Asha Bhosale)

शेअर करें / Share Page

Lyrics in English - ASCII
देवनागरी बोल :
 

निकले थे कहाँ जाने के लिये, पहुंचे है कहाँ मालूम नहीं 
अब अपने भटकते क़दमों को, मंजिल का निशान मालूम नहीं 

हमने भी कभी इस गुल्शन में, एक ख्वाब-ए-बहार देखा था 
कब फूल झरे, कब गर्द उड़ी, कब आई खिज़ां मालूम नहीं 

दिल शोला-ए-ग़म से खाक हुआ, या आग लगी अरमानों में 
क्या चीज़ जली क्यूं सीने से उठा है धुआं मालूम नहीं 

बरबाद वफ़ा का अफ़साना हम किसे कहें और कैसे कहें 
खामोश हैं लब और दुनिया को अश्कों की ज़ुबां मालूम नहीं 


Lyrics in Unicode - Devanagari
Lyrics:
 

nikale the kahaa.N jaane ke liye, pahu.nche hai kahaa.N maalUm nahii.n 
ab apane bhaTakate qadamo.n ko, ma.njil kA nishaan maalUm nahii.n 

hamane bhI kabhI is gulshan me.n, ek khvaab-e-bahaara dekhaa thaa 
kab phuul jhare, kab gard u.Dii, kab aa_ii khizaa.n maalUm nahii.n 

dil sholaa-e-Gam se khaak huA, yA aag lagI aramAno.n me.n 
kyA chiiz jalii kyuu.n siine se uThaa hai dhuaa.n maalUm nahii.n 

barabaad vafaa kA afasaanaa ham kise kahe.n aur kaise kahe.n 
khaamosh hai.n lab aur duniyA ko ashko.n kI zubaa.n maalUm nahii.n 

कुछ और सुझाव / Related content: