गाना / Title: दर्द जब तेरी अता है तो गिला किससे करें - dard jab terii ataa hai to gilaa kisase kare.n

चित्रपट / Film: Meraj-E-Ghazal (Non-Film)

संगीतकार / Music Director: Ghulam Ali

गीतकार / Lyricist: Manzoor Ahmer

गायक / Singer(s): आशा भोसले-(Asha Bhosale)

Lyrics in English - ASCII
देवनागरी बोल :
दर्द जब तेरी अता है तो गिला किससे करें
हिज्र जब तूने दिया हो तो मिला किससे करें

अक्स बिखरा है तेरा टूट के आईने के साथ
हो गई ज़ख़्म नज़र अक्स चुना किससे करें

मैं सफ़र में हूँ मेरे साथ जुदाई तेरी
हमसफ़र ग़म हैं तो फिर किसको जुदा किससे करें

खिल उठे गुल या खुले दस्त-ए-हिनाई तेरे
हर तरफ़ तू है तो फिर तेरा पता किससे करें

तेरे लब तेरी निगाहें तेरे आरिज़ तेरी ज़ुल्फ़
इतने ज़िंदा हैं तो इस दिल को रिहा किससे करें

Lyrics in Unicode - Devanagari
Lyrics:
dard jab terii ataa hai to gilaa kisase kare.n
hijr jab tuune diyaa ho to milaa kisase kare.n

aks bikharaa hai teraa TuuT ke aa_iine ke saath
ho ga_ii zaKm nazar aks chunaa kisase kare.n

mai.n safar me.n huu.N mere saath judaa_ii terii
hamasafar Gam hai.n to phir kisako judaa kisase kare.n

khil uThe gul yaa khule dast-e-hinaa_ii tere
har taraf tuu hai to phir teraa pataa kisase kare.n

tere lab terii nigaahe.n tere aariz terii zulf
itane zi.ndaa hai.n to is dil ko rihaa kisase kare.n

Related content: