LyricsIndia.net

गाना / Title: पी के जब शुक्र का सजदा किया मयख़ाने में - pii ke jab shukr kaa sajadaa kiyaa mayaKaane me.n

चित्रपट / Film: Best Of Ghulam Ali (Non-Film)

संगीतकार / Music Director:

गीतकार / Lyricist:

गायक / Singer(s): Ghulam Ali

शेअर करें / Share Page

Lyrics in English - ASCII
देवनागरी बोल :
पी के जब शुक्र का सजदा किया मयख़ाने में
बेतलब आ गई मय फिर मेरे पैमाने में

ये तग़-ओ-दौ ये तलालुम ये तड़प कर गिरना
वो कहाँ शम्मा में जो आग है परवाने में

इक धड़कता हुआ दिल एक छलकता हुआ जाम
यही ले आते हैं मयनोश को मयख़ाने में

दिल-ए-बे-सब्र को बे-वक़्त क़फ़स की सूझी
हुये दो चार ही दिन होंगे बहार आने में

Lyrics in Unicode - Devanagari
Lyrics:
pii ke jab shukr kaa sajadaa kiyaa mayaKaane me.n
betalab aa ga_ii may phir mere paimaane me.n

ye taG-o-dau ye talaalum ye ta.Dap kar giranaa
wo kahaa.N shammaa me.n jo aag hai parawaane me.n

ik dha.Dakataa hu_aa dil ek chhalakataa hu_aa jaam
yahii le aate hai.n mayanosh ko mayaKaane me.n

dil-e-be-sabr ko be-waqt qafas kii suujhii
huye do chaar hii din ho.nge bahaar aane me.n

कुछ और सुझाव / Related content: