गाना / Title: जिसका कोई नहीं उसका तो ख़ुदा है यारो - jisakaa ko_ii nahii.n usakaa to Kudaa hai yaaro (Laawaris)

चित्रपट / Film: लावारीस-(Laawaris)

संगीतकार / Music Director: कल्याणजी - आनंदजी-(Kalyanji-Anandji)

गीतकार / Lyricist: अंजान-(Anjaan)

गायक / Singer(s): किशोर कुमार-(Kishore Kumar)मन्ना डे-(Manna De)

Lyrics in English - ASCII
देवनागरी बोल :
(किशोर कुमार)
एक दिन किसी फकीर ने एक बात कही थी
अब जा के दिल ने माना, वो बात सही थी

जिसका कोई नहीं उसका तो खुदा है यारों
मैं नहीं कहता किताबों में लिखा है यारों

हम तो क्या है वो फरिश्तोंको आजमाता है
बनाकर हमको मिटाता है फिर बनाता है
आदमी टूट के सौ बार जुड़ा है यारों

कब तलक़ हमसे ये तकदीर भला रूठेगी
इन अंधेरों से उजाले की किरण फूटेगी
गम के दामन में कही चैन छुपा है यारों

जिसने पैदा किया दुनिया में वो ही पालेगा
हम को हर मोड़ पे, हर ज़ुल्म से बचा लेगा
अपने बंदों से कहाँ, कब वो जुदा है यारो

ज़ुल्म इन्सान का जब हद से गुजर जाता है
वो किसी और ही सूरत में पास आता है
अनगिनत रूप में वो हम से मिला है यारो

(मन्ना डे)
जिसका कोई नहीं उसका तो खुदा है यारो
मैं नहीं कहता किताबों में लिखा है यारो

जिसने पैदा किया दुनिया में वो ही पालेगा
हम को हर मोड़ पे, हर ज़ुल्म से बचा लेगा
अपने बंदों से कहाँ, कब वो जुदा है यारो

ज़ुल्म इन्सान का जब हद से गुजर जाता है
वो किसी और ही सूरत में पास आता है
अनगिनत रूप में वो हम से मिला है यारो

Lyrics in Unicode - Devanagari
Lyrics:
(Kishore Version)
Ek din kisi fakir ne ek baat kahi thi
Ab ja ke dil ne maana, wo baat sahi thi

Jisaka koi nahin usaka to khuda hai yaaron
Main nahin kahata kitaabon men likha hai yaaron

Ham to kya hai wo farishtonko ajamaata hai
Banaakar hamako mitaata hai fir banaata hai
Adami tut ke sau baar juda hai yaaron

Kab talak hamase ye takadir bhala ruthhegi
In andheron se ujaale ki kiran futegi
Gam ke daaman men kahi chain chhupa hai yaaron

Jisane paida kiya duniya men wo hi paalega
Ham ko har mod pe, har julm se bacha lega
Apane bndon se kahaan, kab wo juda hai yaaro

Julm insaan ka jab had se gujar jaata hai
Wo kisi aur hi surat men paas ata hai
Anaginat rup men wo ham se mila hai yaaro

(Manna De Version)
Jisaka koi nahin usaka to khuda hai yaaro
Main nahin kahata kitaabon men likha hai yaaro

Jisane paida kiya duniya men wo hi paalega
Ham ko har mod pe, har julm se bacha lega
Apane bndon se kahaan, kab wo juda hai yaaro

Julm insaan ka jab had se gujar jaata hai
Wo kisi aur hi surat men paas ata hai
Anaginat rup men wo ham se mila hai yaaro

Related content: