LyricsIndia.net

गाना / Title: जब से हम तुम बहारों में (Version II) - jab se ham tum bahaaro.n me.n (##Version II##)

चित्रपट / Film: Main Shaadi Karne Chala

संगीतकार / Music Director: चित्रगुप्त-(Chitragupt)

गीतकार / Lyricist: मजरूह सुलतानपुरी-(Majrooh Sultanpuri)

गायक / Singer(s): Kamal Barotमुकेश-(Mukesh)

शेअर करें / Share Page

Lyrics in English - ASCII
देवनागरी बोल :
जब से हम तुम, बहारों में, हो बैठे गुम, नज़ारों में
जिअसे ये ज़िंदगी, जागी आँखों का ख़ाब है

मिलना तो था हमें, इस दिल की राह में
अफ़साना बन गये, (दीवाने जिनकी चाह में) - २
अफ़साने थे किसी दिन के, दीवाने थे किसी दिन के
जैसे ये रागिनी, जागी आँखों का ख़्वाब है

चाहत के नाम का, चाहत का जाम है
हलकी हलकी नशीली (भीगी भीगी शाम है) - २
मेरे सपने, तेरी राहें
तेरे ???, मेरी बाहें
जैसे ये बेख़ुदी, जागी आँखों का ख़्वाब है

Lyrics in Unicode - Devanagari
Lyrics:
jab se ham tum, bahaaro.n me.n, ho baiThe gum, nazaaro.n me.n
jiase ye zi.ndagii, jaagii aa.Nkho.n kaa Kaab hai

milanaa to thaa hame.n, is dil kii raah me.n
afasaanaa ban gaye, (diivaane jinakii chaah me.n) - 2
afasaane the kisii din ke, diivaane the kisii din ke
jaise ye raaginii, jaagii aa.Nkho.n kaa Kvaab hai

chaahat ke naam kaa, chaahat kaa jaam hai
halakii halakii nashiilii (bhiigii bhiigii shaam hai) - 2
mere sapane, terii raahe.n
tere ???, merii baahe.n
jaise ye beKudii, jaagii aa.Nkho.n kaa Kvaab hai

कुछ और सुझाव / Related content: