गाना / Title: मैं ने शायद तुम्हें, पहले भी कहीं देखा है - mai.n ne shaayad tumhe.n, pahale bhii kahii.n dekhaa hai

चित्रपट / Film: Barsaat Ki Raat

संगीतकार / Music Director: Roshan

गीतकार / Lyricist: साहिर-(Sahir)

गायक / Singer(s): मोहम्मद रफ़ी-(Mohammad Rafi)

Lyrics in English - ASCII
देवनागरी बोल :
          



मैं ने शायद तुम्हें पहले भी कहीं देखा है

अजनबी सी हो मगर गैर नहीं लगती हो
वहम से भी जो हो नाज़ुक वो यकीं लगती हो
हाय ये फूल सा चेहरा ये घनेरी ज़ुल्फ़ें
मेरे शेरों से भी तुम मुझको हंसीं लगती हो

देखकर तुमको किसी रात की याद आती है
एक ख़ामोश मुलाक़ात की याद आती है
जहाँ में हुस्न की ठंडक का असर जगता है
आंच देती हुई बरसात की याद आती है

जिसकी पलकें मेरी आँखों पे झुकी रहती हैं
तुम वही मेरे ख़यालों की परी हो की नहीं
कहीं पहले की तरह फिर तो न खो जाओगी
जो हमेशा के लिये हो वो खुशी हो की नहीं



        

Related content:

Lyrics in Unicode - Devanagari
Lyrics:
      

mai.n ne shaayad tumhe.n pahale bhii kahii.n dekhaa hai

ajanabii sii ho magar gair nahii.n lagatii ho
vaham se bhii jo ho naazuk vo yakii.n lagatii ho
haay ye phuul saa cheharaa ye ghanerii zulfe.n
mere shero.n se bhii tum mujhako ha.nsii.n lagatii ho

dekhakar tumako kisii raat kii yaad aatii hai
ek Kaamosh mulaaqaat kii yaad aatii hai
jahaa.N me.n husn kii Tha.nDak kaa asar jagataa hai
aa.nch detii huI barasaat kii yaad aatii hai

jisakii palake.n merii aa.Nkho.n pe jhukii rahatii hai.n
tum vahii mere Kayaalo.n kii parii ho kii nahii.n
kahii.n pahale kii tarah phir to na kho jaaogii
jo hameshaa ke liye ho vo khushii ho kii nahii.n