गाना / Title: दो दीवाने शहर में, रात में और दोपहर में - do diivaane shahar me.n, raat me.n aur dopahar me.n

चित्रपट / Film: घरोंदा-(Gharonda)

संगीतकार / Music Director: Jaidev

गीतकार / Lyricist: गुलजार-(Gulzar)

गायक / Singer(s): BhupinderRuna Laila

Lyrics in English - ASCII
देवनागरी बोल :
          



Dialogs first: 
भू: एक दीवाना शहर में
रू: एक दीवाना नहीं, एक दीवानी भी
भू: Hmm? hmm-hmm. [it is hard to transcribe sounds! :-)] 

then the song starts: 
भू: दो दीवाने शहर में, रात में और दोपहर में
   आब\-ओ\-दाना ढूँढते हैं एक आशियाना ढूँढते हैं
रू: दो दीवाने शहर में, रात में और दोपहर में
   आब\-ओ\-दाना ढूँढते हैं एक आशियाना ढूँढते हैं

रू: इन भूलभुल{}इया गलियों में, अपना भी कोई घर होगा
   अम्बर पे खुलेगी खिड़की या, खिड़की पे खुला अम्बर होगा
भू: इन भूलभुल{}इया गलियों में, अपना भी कोई घर होगा
   अम्बर पे खुलेगी खिड़की या, खिड़की पे खुला अम्बर होगा
   असमानी रंग की आँखों में
रू: असमानी या आसमानी?
भू: असमानी रंग की आँखों में
   बसने का बहाना ढूंढते हैं, ढूंढते हैं
रू: आबोदाना ढूंढते हैं एक आशियाना ढूंढते हैं

भू: जब तारे ज़मीं पर चलते हैं
रू: तारे, और ज़मीं पर?
भू: of course 
भू: जब तारे ज़मीं पर चलते हैं
रू: Hmmm hmmm 
भू: आकाश ज़मीं हो जाता है
रू: आ आ आ
भू: उस रात नहीं फिर घर जाता, वो चांद यहीं सो जाता है
रू: जब तारे ज़मीं पर चलते हैं
आकाश ज़मीं हो जाता है
उस रात नहीं फिर घर जाता, वो चांद यहीं सो जाता है
भू: पल भर के लिये
रू: पल भर के लिये
भू: पल भर के लिये इन आँखों में हम एक ज़माना ढूंढते हैं, ढूंढते हैं
रू: आबोदाना ढूंढते हैं एक आशियाना ढूंढते हैं



        

Related content:

Lyrics in Unicode - Devanagari
Lyrics:
      

##Dialogs first: ##
bhU: ek diivaanaa shahar me.n
rU: ek diivaanaa nahii.n, ek diivaanii bhii
bhU: ## Hmm? hmm-hmm. [it is hard to transcribe sounds! :-)] ##

## then the song starts: ##
bhU: do diivaane shahar me.n, raat me.n aur dopahar me.n
   aab\-o\-daanaa Dhuu.NDhate hai.n ek aashiyaanaa Dhuu.NDhate hai.n
rU: do dIvaane shahar me.n, raat me.n aur dopahar me.n
   aab\-o\-daanaa Dhuu.NDhate hai.n ek aashiyaanaa Dhuu.NDhate hai.n

rU: in bhUlabhula{}iyA galiyo.n me.n, apanA bhI koI ghar hogA
   ambar pe khulegI khi.DakI yA, khi.DakI pe khulA ambar hogA
bhU: in bhUlabhula{}iyA galiyo.n me.n, apanA bhI koI ghar hogA
   ambar pe khulegI khi.DakI yA, khi.DakI pe khulA ambar hogA
   asamAnI ra.ng kI A.Nkho.n me.n
rU: asamAnI yA AsamAnI?
bhU: asamAnI ra.ng kI A.Nkho.n me.n
   basane kA bahAnA DhU.nDhate hai.n, DhU.nDhate hai.n
rU: aabodAnA DhU.nDhate hai.n ek aashiyAnA DhU.nDhate hai.n

bhU: jab taare zamI.n par chalate hai.n
rU: taare, aur zamI.n par?
bhU: ## of course ##
bhU: jab taare zamI.n par chalate hai.n
rU: ## Hmmm hmmm ##
bhU: AkAsh zamI.n ho jaatA hai
rU: A aa aa
bhU: us raat nahI.n phir ghar jaatA, vo chaa.nd yahI.n so jaatA hai
rU: jab taare zamI.n par chalate hai.n
AkAsh zamI.n ho jaatA hai
us raat nahI.n phir ghar jaatA, vo chaa.nd yahI.n so jaatA hai
bhU: pal bhar ke liye
rU: pal bhar ke liye
bhU: pal bhar ke liye in A.Nkho.n me.n ham ek zamAnA DhU.nDhate hai.n, DhU.nDhate hai.n
rU: aabodAnA DhU.nDhate hai.n ek aashiyAnA DhU.nDhate hai.n