गाना / Title: रस्ते में तेरे कब से हैं खड़े - raste me.n tere kab se hai.n kha.De

चित्रपट / Film: ओपरा हाउस-(Opera House)

संगीतकार / Music Director: Chitragupt

गीतकार / Lyricist: मजरूह सुलतान पुरी-(Majrooh)

गायक / Singer(s): लता मंगेशकर-(Lata Mangeshkar)मोहम्मद रफ़ी-(Mohammad Rafi)

Lyrics in English - ASCII
देवनागरी बोल :
          



रस्ते में तेरे कब से हैं खड़े
अजी ले लो सलाम गरीबों का
रस्ते में तेरे कब से हैं खड़े
अजी ले लो सलाम गरीबों का

गलियों में घूमते थे हम बेक़रार से
मिल जाओगे कहीं तो चलते फिरते प्यार से
मिल ही गये हैं तो खुल के मिलो
दिल तोड़ न दो मुँह मोड़ न लो
प्यारे ले लो सलाम गरीबों का

सुलझाना छोड़ देते उल्जहे से बाल का
सुन लेते आप जो अफ़्साना मेरे हाल का
हाँ हाँ सुनी नहीं फ़ुर्सत मगर
ले जाये किधर हसरत की नज़र
प्यारे ले लो सलाम गरीबों का

अब तक जो हम खड़े हैं ही चाहत आप की
तकते हैं देर से दीवाने सूरत आप की
कब तक यूँ ही कोई पीछा करे
अब हाथ मेरे मेरे थकने भी लगे
चाहे ले लो सलाम गरीबों का



        

Related content:

Lyrics in Unicode - Devanagari
Lyrics:
      

raste me.n tere kab se hai.n kha.De
ajii le lo salaam gariibo.n kaa
raste me.n tere kab se hai.n kha.De
ajii le lo salaam gariibo.n kaa

galiyo.n me.n ghuumate the ham beqaraar se
mil jaaoge kahii.n to chalate phirate pyaar se
mil hii gaye hai.n to khul ke milo
dil to.D na do mu.Nh mo.D na lo
pyaare le lo salaam gariibo.n kaa

sulajhaanaa chho.D dete uljahe se baal kaa
sun lete aap jo afsaanaa mere haal kaa
haa.N haa.N sunii nahii.n fursat magar
le jaaye kidhar hasarat kii nazar
pyaare le lo salaam gariibo.n kaa

ab tak jo ham kha.De hai.n hii chaahat aap kii
takate hai.n der se diivaane suurat aap kii
kab tak yuu.N hii koii piichhaa kare
ab haath mere mere thakane bhii lage
chaahe le lo salaam gariibo.n kaa