गाना / Title: चेहरा छुपा लिया है किसी ने हिजाब में - cheharaa chhupaa liyaa hai kisii ne hijaab me.n

चित्रपट / Film: Nikaah

संगीतकार / Music Director: Ravi

गीतकार / Lyricist: Hasan Kamaal

गायक / Singer(s): chorusमहेन्द्र कपूर-(Mahendra Kapoor)Salma Agha

Lyrics in English - ASCII
देवनागरी बोल :
          



म: चेहरा छुपा लिया है किसी ने हिजाब में
    जी चाहता है आग लगा दूँ नक़ाब में

स: बिजली थी इक जो हम ने छुपा ली नक़ाब में
    लग जाती वरना आग तुम्हारे शबाब में

म: हम हुस्न के परवाने जलने से नहीं डरते
    अन्जाम\-ए\-मोहब्बत की परवाह नहीं करते
    इक बार ही देते हैं दिल अपना हसीनों को
    इक बार ही मरते हैं सौ बार नहीं मरते

स: परवाने से पहले जली और परवाने के साथ जली
    वो तो जला बस पल दो पल शमा तो सारी रात जली

    एक परवाना जला इक कदर शोर मचा
    शमा चुपचाप जली लब पे शिकवा न ग़िला
    क्या है जलने का मज़ा हुस्न से पूछो ज़रा

    क्योंकि

    परवाने को जल जाना हम ने ही सिखाया है
    वो तब हि जला हम ने जब ख़ुद को जलाया है
    आशिक़ की जान इश्क़ में जाने से पेश्तर
    ख़ुद हुस्न डूबता है वफ़ा के चनाब में

को: चेहर छुपा लिया ...

स: गर हुस्न नहीं होता ये इश्क़ कहाँ होता
    फिर किस से वफ़ा करते फिर किस का वफ़ा होता

म: तकरार से क्या हासिल कुछ भी न हुआ होता
    गर तुम न हसीं होते गर मैं न जवां होता
    जिस रोज़ से इस हुस्न का दीदार किया है
    बस प्यार किया प्यार किया प्यार किया है

स: ये झूठ है कि तुम ने हमें प्यार किया है
    हम ने तुम्हें ज़ुल्फ़ों में गिरफ़्तार किया है

म: तुम हुस्न हो हम इश्क़ है
स: गर तुम नहीं तो हम नहीं
म: है बात सच्ची बस यही कोई किसी से कम नहीं
स: है बात सच्ची बस यही कोई किसी से कम नहीं
म: एक नग़मा है एक राग है
स: दोनों तरफ़ एक आग है
म: तुम से हमें शिकवा भी है फिर भी आप से प्यार है
स: तुम बिन हमें कब चैन हम को भी ये इक़रार है

म: देखे तो होश गुम हो न देखे तो होश गुम
    ये फँस गैइ है जान मेरी किस अदाब में

को: चेहरा छुपा लिया ...



        

Related content:

Lyrics in Unicode - Devanagari
Lyrics:
      

ma: cheharaa chhupaa liyaa hai kisii ne hijaab me.n
    jii chaahataa hai aag lagaa duu.N naqaab me.n

sa: bijalii thii ik jo ham ne chhupaa lii naqaab me.n
    lag jaatI varanaa aag tumhaare shabaab me.n

ma: ham husn ke paravaane jalane se nahii.n Darate
    anjaam\-e\-mohabbat kii paravaah nahii.n karate
    ik baar hii dete hai.n dil apanaa hasiino.n ko
    ik baar hii marate hai.n sau baar nahii.n marate

sa: paravaane se pahale jalii aur paravaane ke saath jalii
    vo to jalaa bas pal do pal shamaa to saarii raat jalii

    ek paravaanaa jalaa ik kadar shor machaa
    shamaa chupachaap jalii lab pe shikavaa na Gilaa
    kyaa hai jalane kaa mazaa husn se puuchho zaraa

    kyo.nki

    paravaane ko jal jaanaa ham ne hii sikhaayaa hai
    vo tab hi jalaa ham ne jab Kud ko jalaayaa hai
    aashiq kii jaan ishq me.n jaane se peshtar
    Kud husn DUbataa hai vafaa ke chanaab me.n

ko: chehara chhupaa liyaa ...

sa: gar husn nahii.n hotaa ye ishq kahaa.N hotaa
    phir kis se vafaa karate phir kis kaa vafaa hotaa

ma: takaraar se kyaa haasil kuchh bhii na huaa hotaa
    gar tum na hasii.n hote gar mai.n na javaa.n hotaa
    jis roz se is husn kaa diidaar kiyaa hai
    bas pyaar kiyaa pyaar kiyaa pyaar kiyaa hai

sa: ye jhuuTh hai ki tum ne hame.n pyaar kiyaa hai
    ham ne tumhe.n zulfo.n me.n giraftaar kiyaa hai

ma: tum husn ho ham ishq hai
sa: gar tum nahii.n to ham nahii.n
ma: hai baat sachchii bas yahii koii kisii se kam nahii.n
sa: hai baat sachchii bas yahii koii kisii se kam nahii.n
ma: ek naGamaa hai ek raag hai
sa: dono.n taraf ek aag hai
ma: tum se hame.n shikavaa bhii hai phir bhii aap se pyaar hai
sa: tum bin hame.n kab chain ham ko bhii ye iqaraar hai

ma: dekhe to hosh gum ho na dekhe to hosh gum
    ye pha.Ns gaii hai jaan merii kis adaab me.n

ko: cheharaa chhupaa liyaa ...