गाना / Title: काबे से बुतक़दे से कभी बज़्म\-ए\-यार से - kaabe se butaqade se kabhii bazm\-e\-yaar se

चित्रपट / Film: non-Film

संगीतकार / Music Director: Murli Manohar Swarup

गीतकार / Lyricist: Shamim Jaipuri

गायक / Singer(s): तलत महमूद-(Talat Mahmood)

Lyrics in English - ASCII
देवनागरी बोल :
          



काबे से बुतक़दे से कभी बज़्म\-ए\-यार से
आवाज़ दे रहा हूँ तुझे हर मुकाम से

न आशना है आज वही मेरे नाम से
दुनिया पुकारती थी जिन्हे मेरे नाम से

उफ़, ये शब\-ए\-फ़िराक़ के मारों की बेख़ुदी
ख़ुद हि बुझा दिया है चराग़ों को शाम से

दिल में फ़रेब, लब पे तबस्सुम, नज़र में प्यार
लुटे गए 'शमीम' बड़े ऐह्तमाम से



        

Related content:

Lyrics in Unicode - Devanagari
Lyrics:
      

kaabe se butaqade se kabhii bazm\-e\-yaar se
aavaaz de rahaa huu.N tujhe har mukaam se

na aashanaa hai aaj vahii mere naam se
duniyaa pukaaratii thii jinhe mere naam se

uf, ye shab\-e\-firaaq ke maaro.n kii beKudii
Kud hi bujhaa diyaa hai charaaGo.n ko shaam se

dil me.n fareb, lab pe tabassum, nazar me.n pyaar
luTe ga_e 'shamiim' ba.De aih.h_tamaam se