गाना / Title: हक़ माँगते हैं अपने पसीने का - haq maa.Ngate hai.n apane pasiine kaa

चित्रपट / Film: Baap Bete

संगीतकार / Music Director: मदन मोहन-(Madan Mohan)

गीतकार / Lyricist: Rajinder Krishan

गायक / Singer(s): मोहम्मद रफ़ी-(Mohammad Rafi)

Lyrics in English - ASCII
देवनागरी बोल :
          



हक़ माँगते हैं अपने पसीने का
अधिकार हमें भी है जीने का

तुम लाख अमीरों ऐश करो हम देख तुम्हें कब जलते हैं
साए में तुम्हारे महलों के लेकिन कितने ग़म पलते हैं
देखो तो नज़ारा आके कभी ग़म खाने आँसू पीने का
हक़ माँगते हैं ...

मेहनत पे हमारी ही तुमने ये शीशमहल है खड़ा किया
तुम जिनको छोटा कहते हो इन छोटों ने तुमको बड़ा किया
क्यों साल के पीछे चुभता है फिर बोनस एक महीने का
हक़ माँगते हैं ...

तुम खुद भी जियो और जीने दो  है माँग यही मज़दूरों की
इन्साफ़ करो इन्साफ़ करो आह न लो मज़दूरों की
शोला न कहीं बनकर भड़के अब तक जो धुआँ है सीने का
हक़ माँगते हैं ...



        

Related content:

Lyrics in Unicode - Devanagari
Lyrics:
      

haq maa.Ngate hai.n apane pasiine kaa
adhikaar hame.n bhii hai jiine kaa

tum laakh amiiro.n aish karo ham dekh tumhe.n kab jalate hai.n
saa_e me.n tumhaare mahalo.n ke lekin kitane Gam palate hai.n
dekho to nazaaraa aake kabhii Gam khaane aa.Nsuu piine kaa
haq maa.Ngate hai.n ...

mehanat pe hamaarii hii tumane ye shiishamahal hai kha.Daa kiyaa
tum jinako chhoTaa kahate ho in chhoTo.n ne tumako ba.Daa kiyaa
kyo.n saal ke piichhe chubhataa hai phir bonas ek mahiine kaa
haq maa.Ngate hai.n ...

tum khud bhii jiyo aur jiine do  hai maa.Ng yahii mazaduuro.n kii
insaaf karo insaaf karo aah na lo mazaduuro.n kii
sholaa na kahii.n banakar bha.Dake ab tak jo dhu_aa.N hai siine kaa
haq maa.Ngate hai.n ...