गाना / Title: क्या टूटा है अन्दर अन्दर क्यूँ चेहरा कुम्हलाया है - kyaa TuuTaa hai andar andar kyuu.N cheharaa kumhalaayaa hai

चित्रपट / Film: Kehna Usey (Non-Film)

संगीतकार / Music Director: Niaz Ahmed

गीतकार / Lyricist: Farhat Shahzad

गायक / Singer(s): Mehdi Hasan

Lyrics in English - ASCII
देवनागरी बोल :
          



क्या टूटा है अन्दर अन्दर चेहरा क्यूँ कुम्हलाया है
क्या टूटा है अन्दर अन्दर क्यूँ चेहरा कुम्हलाया है
तन्हा तन्हा रोने वालो कौन तुम्हें याद आया है

चुपके चुपके सुलग़ रहे थे याद में उनकी दीवाने
इक तारे ने टूट के यारो क्या उनको समझाया है

रंग बिरंगी इस महफ़िल में तुम क्यूँ इतने चुप चुप हो
भूल भी जाओ पागल लोगो क्या खोया क्या पाया है

शेर कहाँ है ख़ून है दिल का जो लफ़्ज़ों में बिखरा है
दिल के ज़ख़्म दिखा कर हमने महफ़िल को गर्माया है

अब 'शहज़ाद' ये झूठ न बोलो वो इतना बेदर्द नहीं
अपनी चाहत को भी परखो गर इल्ज़ाम लगाया है



        

Related content:

Lyrics in Unicode - Devanagari
Lyrics:
      

kyaa TuuTaa hai andar andar cheharaa kyuu.N kumhalaayaa hai
kyaa TuuTaa hai andar andar kyuu.N cheharaa kumhalaayaa hai
tanhaa tanhaa rone waalo kaun tumhe.n yaad aayaa hai

chupake chupake sulaG rahe the yaad me.n unakii diiwaane
ik taare ne TuuT ke yaaro kyaa unako samajhaayaa hai

ra.ng bira.ngii is mahafil me.n tum kyuu.N itane chup chup ho
bhuul bhii jaa_o paagal logo kyaa khoyaa kyaa paayaa hai

sher kahaa.N hai Kuun hai dil kaa jo lafzo.n me.n bikharaa hai
dil ke zaKm dikhaa kar hamane mahafil ko garmaayaa hai

ab 'shahazaad' ye jhuuTh na bolo wo itanaa bedard nahii.n
apanii chaahat ko bhii parakho gar ilzaam lagaayaa hai