गाना / Title: जब रातों की नींद और दिन का चैन जाए - jab raato.n kii nii.nd aur din kaa chain jaa_e

चित्रपट / Film: Safaari

संगीतकार / Music Director: Shyam Mohan

गीतकार / Lyricist: Rani Malik

गायक / Singer(s): अमित कुमार-(Amit Kumar)Sadhana SargamMohanish Behl

Lyrics in English - ASCII
देवनागरी बोल :
          



क्लूक 
कोई समझाए मुझे क्लूक क्या होता क्लूक
मेरी रातों की नींद गई दिन का चैन गया क्या होता है ये क्लूक

जब दिल में धड़कन में कोई आके समा जाएगा
इक पल में तेरे मन में कोई जादू जगा जाएगा
अरे बड़ा तड़पाए वो है क्लूक
जो होश उड़ाए वो है क्लूक

जब रातों की नींद और दिन का चैन जाए
यही होता है ये क्लूक

ये क्या लगा रखा है क्लूक थोड़ी चालाकी थोड़ा धोखा है
बनाओ भोले भालों को बेवकूफ़ मिला अच्छा मौक़ा है
यूं ही कुछ लोग महफ़िल में किसी से क्यूं उलझते हैं
ये दिलवालों की बातें दिलवाले जानते हैं दिलवाले समझते हैं
मैने ज़रा ज़रा ये जाना थोड़ा थोड़ा पहचाना
इस बात का मतलब क्या है इक बार और बतलाना
जब नज़रों की गाड़ी चले छुक छुक छुक
तो दिल में जो होता है वो धुक धुक धुक
जब रातों की नींद ...

ऐसे क्यूं महकाती है पागल हवा
मैं कुछ कुछ समझ गई
मैं कुछ कुछ ना समझी
बहकी बहकी सी क्यूं नशीली घटा
मैं कुछ कुछ समझ गई
मैं कुछ कुछ ना समझी
पास आए जो तू मेरे तो फिर मैं तुझे बताऊं
इन सबको वही हुआ है कैसे तुझको समझाऊं
शरमा के पलक जाए झुक झुक झुक
सीने में साँस जाए रुक रुक रुक
जब रातों की नींद ...

हाँ अब तो समझ गई क्लूक ये क्या होता है क्लूक
कोई मिले किसी से जब छुप छुप छुप
वो सारी उम्र रहे चुप चुप चुप
जब रातों की नींद ...



        

Related content:

Lyrics in Unicode - Devanagari
Lyrics:
      

kluuk 
ko_ii samajhaa_e mujhe kluuk kyaa hotaa kluuk
merii raato.n kii nii.nd ga_ii din kaa chain gayaa kyaa hotaa hai ye kluuk

jab dil me.n dha.Dakan me.n ko_ii aake samaa jaa_egaa
ik pal me.n tere man me.n ko_ii jaaduu jagaa jaa_egaa
are ba.Daa ta.Dapaa_e vo hai kluuk
jo hosh u.Daa_e vo hai kluuk

jab raato.n kii nii.nd aur din kaa chain jaa_e
yahii hotaa hai ye kluuk

ye kyaa lagaa rakhaa hai kluuk tho.Dii chaalaakii tho.Daa dhokhaa hai
banaa_o bhole bhaalo.n ko bevakuuf milaa achchhaa mauqaa hai
yuu.n hii kuchh log mahafil me.n kisii se kyuu.n ulajhate hai.n
ye dilavaalo.n kii baate.n dilavaale jaanate hai.n dilavaale samajhate hai.n
maine zaraa zaraa ye jaanaa tho.Daa tho.Daa pahachaanaa
is baat kaa matalab kyaa hai ik baar aur batalaanaa
jab nazaro.n kii gaa.Dii chale chhuk chhuk chhuk
to dil me.n jo hotaa hai vo dhuk dhuk dhuk
jab raato.n kii nii.nd ...

aise kyuu.n mahakaatii hai paagal havaa
mai.n kuchh kuchh samajh ga_ii
mai.n kuchh kuchh naa samajhii
bahakii bahakii sii kyuu.n nashiilii ghaTaa
mai.n kuchh kuchh samajh ga_ii
mai.n kuchh kuchh naa samajhii
paas aa_e jo tuu mere to phir mai.n tujhe bataa_uu.n
in sabako vahii hu_aa hai kaise tujhako samajhaa_uu.n
sharamaa ke palak jaa_e jhuk jhuk jhuk
siine me.n saa.Ns jaa_e ruk ruk ruk
jab raato.n kii nii.nd ...

haa.N ab to samajh ga_ii kluuk ye kyaa hotaa hai kluuk
ko_ii mile kisii se jab chhup chhup chhup
vo saarii umr rahe chup chup chup
jab raato.n kii nii.nd ...