गाना / Title: कभी कभी यूँही हमने अपने जी को बहलाया है - kabhii kabhii yuu.Nhii hamane apane jii ko bahalaayaa hai

चित्रपट / Film: non-Film

संगीतकार / Music Director: Jagjit Singh

गीतकार / Lyricist: Nida Fazli

गायक / Singer(s): Jagjit Singh

Lyrics in English - ASCII
देवनागरी बोल :
          



कभी कभी यूँही हमने अपने जी को बहलाया है
जिन बातों को खुद नहीं समझे, औरों को समझाया है

हमसे पूछो इज़्ज़त वालों की इज़्ज़त का हाल कभी
हमने भी इस शहर में रहकर थोड़ा नाम कमाया है

उससे बिछड़े बरसों बीते, लेकिन आज न जाने क्यों
आँगन में हँसते बच्चों को बे\-कारण धमकाया है

कोई मिला तो हाथ मिलाया, कहीं गए तो बातें की
घर से बाहर जब भी निकले, दिन भर बोझ उठाया है



        

Related content:

Lyrics in Unicode - Devanagari
Lyrics:
      

kabhii kabhii yuu.Nhii hamane apane jii ko bahalaayaa hai
jin baato.n ko khud nahii.n samajhe, auro.n ko samajhaayaa hai

hamase puuchho izzat vaalo.n kii izzat kaa haal kabhii
hamane bhii is shahar me.n rahakar tho.Daa naam kamaayaa hai

usase bichha.De baraso.n biite, lekin aaj na jaane kyo.n
aa.Ngan me.n ha.Nsate bachcho.n ko be\-kaaraN dhamakaayaa hai

koii milaa to haath milaayaa, kahii.n ga_e to baate.n kii
ghar se baahar jab bhii nikale, din bhar bojh uThaayaa hai