गाना / Title: ज़िंदगी ख़्वाब है - zi.ndagii Kvaab hai

चित्रपट / Film: Jaagte Raho

संगीतकार / Music Director: Salil Choudhary

गीतकार / Lyricist: Shailendra

गायक / Singer(s): मुकेश-(Mukesh)

Lyrics in English - ASCII
देवनागरी बोल :
          



रंगी को नारंगी कहे, बने दूध को खोया
चलती को गाड़ी कहे, देख कबीरा रोया...

ज़िंदगी ख़्वाब है, ख़्वाब में झूठ क्या
और भला सच है क्या 
(मोतीलाल) सब सच है 
ज़िन्दगी ख्वाब है...

दिल ने हमसे जो कहा, हमने वैसा ही किया \- २
फ़िर कभी फ़ुरसत से सोचेंगे बुरा था या भला 
ज़िन्दगी ख़्वाब है...

एक कतरा मय का जब, पत्थर से होंठों पर पड़ा \- २
उसके सीने में भी दिल धड़का ये उसने भी कहा

(मोतीलाल) क्या 

एक प्याली भर के मैंने, ग़म के मारे दिल को दी
ज़हर ने मारा ज़हर को, मुरदे में फिर जान आ गई 
ज़िन्दगी ख़्वाब है...



        

Related content:

Lyrics in Unicode - Devanagari
Lyrics:
      

ra.ngii ko naara.ngii kahe, bane duudh ko khoyaa
chalatii ko gaa.Dii kahe, dekh kabIraa royaa...

zi.ndagii Kvaab hai, Kvaab me.n jhuuTh kyaa
aur bhalaa sach hai kyaa 
(motIlaal) sab sach hai 
zindagI khvAb hai...

dil ne hamase jo kahaa, hamane vaisaa hii kiyaa \- 2
fir kabhI furasat se soche.nge buraa thA yA bhalaa 
zindagii Kvaab hai...

ek kataraa may kA jab, patthar se ho.nTho.n par pa.Daa \- 2
usake siine me.n bhii dil dha.Dakaa ye usane bhii kahaa

(motIlaal) kyA 

ek pyaalii bhar ke mai.nne, Gam ke maare dil ko dii
zahar ne maaraa zahar ko, murade me.n phir jaan aa gaI 
zindagii Kvaab hai...