गाना / Title: है कली कली की लब पर, तेरे हुस्न का फ़साना - hai kalii kalii kii lab par, tere husn kaa fasaanaa

चित्रपट / Film: Lala Rukh

संगीतकार / Music Director: Khaiyyam

गीतकार / Lyricist: Kaifi Azmi

गायक / Singer(s): मोहम्मद रफ़ी-(Mohammad Rafi)

Lyrics in English - ASCII
देवनागरी बोल :
          

 

है कली कली के लब पर, तेरे हुस्न का फ़साना 
मेरे गुल्सिताँ का सब कुछ, तेरा सिर्फ़ मुस्कुराना 

ये खुले खुले से गेसू, उठे जैसे बदलियां सी, 
ये झुकी झुकी निगाहें, गिरे जैसे बिजलियां सी 
तेरे नाचते कदम में है बहार का खज़ाना 
है कली कली के लब पर, तेरे हुस्न का फ़साना ...

तेरा झूमना मचलना, जैसे सर (?) बदल बदल के 
मेरा दिल धड़क रहा है, तू लचक सम्भल सम्भलके 
कहीं रुक ना जाये ज़ालिम इस मोड़ पर ज़माना 
है कली कली के लब पर, तेरे हुस्न का फ़साना ...



        

Related content:

Lyrics in Unicode - Devanagari
Lyrics:
       

hai kalii kalii ke lab par, tere husn kaa fasaanaa 
mere gulsitaa.N kaa sab kuchh, teraa sirf muskuraanaa 

ye khule khule se gesuu, uThe jaise badaliyaa.n sI, 
ye jhukii jhukI nigaahe.n, gire jaise bijaliyaa.n sI 
tere naachate kadam me.n hai bahaar kA khazaanaa 
hai kalii kalii ke lab par, tere husn kaa fasaanaa ...

terA jhUmanaa machalanaa, jaise sar (?) badal badal ke 
merA dil dha.Dak rahaa hai, tU lachak sambhal sambhalake 
kahii.n ruk nA jaaye zaalim is mo.D par zamaanaa 
hai kalii kalii ke lab par, tere husn kaa fasaanaa ...