गाना / Title: ये क्या के सबसे बयाँ दिल की हालतें करनी - ye kyaa ke sabase bayaa.N dil kii haalate.n karanii

चित्रपट / Film: Mahtab (Non-Film)

संगीतकार / Music Director: Ghulam Ali

गीतकार / Lyricist: Ahmed Faraz

गायक / Singer(s): Ghulam Ali

Lyrics in English - ASCII
देवनागरी बोल :
          



ये क्या के सबसे बयाँ दिल की हालतें करनी
'फ़राज़' तुझको न आईं मोहब्बतें करनी

ये कुर्ब क्या है के तू सामने था और हमें
शुमारगी से जुदाई से साअतें करनी

कोई ख़ुदा हो के पत्थर जिसे भी हम चाहें
तमाम उम्र उसी की इबादतें करनी

सब अपने अपने करीने से मुन्तज़िर उसके
किसी को शुक्र किसी को शिकायतें करनी

मिले जब उनसे तो मुबहम सी गुफ़्तगू करना
फिर अपने आप से सौ सौ वज़ाहत करनी



        

Related content:

Lyrics in Unicode - Devanagari
Lyrics:
      

ye kyaa ke sabase bayaa.N dil kii haalate.n karanii
'faraaz' tujhako na aa_ii.n mohabbate.n karanii

ye kurb kyaa hai ke tuu saamane thaa aur hame.n
shumaaragii se judaa_ii se saa_ate.n karanii

ko_ii Kudaa ho ke patthar jise bhii ham chaahe.n
tamaam umr usii kii ibaadate.n karanii

sab apane apane kariine se muntazir usake
kisii ko shukr kisii ko shikaayate.n karanii

mile jab unase to mubaham sii guftaguu karanaa
phir apane aap se sau sau wazaahat karanii