गाना / Title: मुझसे क़ाफ़िर को तेरे इश्क़ ने यूँ शरमाया - mujhase qaafir ko tere ishq ne yuu.N sharamaayaa

चित्रपट / Film: Mahtab (Non-Film)

संगीतकार / Music Director: Ghulam Ali

गीतकार / Lyricist: Ahmed Nadeem Qasmi

गायक / Singer(s): Ghulam Ali

Lyrics in English - ASCII
देवनागरी बोल :
          



मुझसे क़ाफ़िर को तेरे इश्क़ ने यूँ शरमाया
दिल तुझे देख के धड़का तो ख़ुदा याद आया

चारागर आज सितारों की क़सम खा के बता
किसने इन्साँ को तबसूम के लिये तरसाया

नज़्र करता रहा मैं फूल से जज़्बात उसे
जिसने पत्थर के खिलौनों से मुझे बहलाया

उसके अन्दर कोई फ़नकार छुपा बैठा है
जानते बूझते जिस शख़्स ने धोखा खाया



        

Related content:

Lyrics in Unicode - Devanagari
Lyrics:
      

mujhase qaafir ko tere ishq ne yuu.N sharamaayaa
dil tujhe dekh ke dha.Dakaa to Kudaa yaad aayaa

chaaraagar aaj sitaaro.n kii qasam khaa ke bataa
kisane insaa.N ko tabasuum ke liye tarasaayaa

nazr karataa rahaa mai.n phuul se jazbaat use
jisane patthar ke khilauno.n se mujhe bahalaayaa

usake andar ko_ii fanakaar chhupaa baiThaa hai
jaanate buujhate jis shaKs ne dhokhaa khaayaa