गाना / Title: हो साथ अगर ... मंडवे तले ग़रीब के - ho saath agar ... ma.nDave tale Gariib ke

चित्रपट / Film: Geet Gaya Pattharon Ne

संगीतकार / Music Director: Ramlal

गीतकार / Lyricist: हसरत-(Hasrat)

गायक / Singer(s): C H Atma

Lyrics in English - ASCII
देवनागरी बोल :
          



हो साथ अगर पहलू में इक मस्त\-ए\-शबाब
इक जाम हो और हाथ में शेरों की क़िताब
इक साज़ हो और साज़ पे गाती हो हसीना
बन जाए ये वीराना बहारों का जवाब

मंडवे तले ग़रीब के, दो फूल खिल रहे हैं
ऐ रात तू न जाना, ऐ चाँद तू न जाना
ये नौबहार, चुपके से देखो, नज़रें न तुम मिलाना
मंडवे तले ग़रीब के, दो फूल खिल रहे हैं

मौसम\-ए\-इश्क़ है, ज़रा होश सम्भाल
हासिल तुझे महबूब है, अर्माँ निकाल
कुछ बात तो करले, नहीं कल की ख़बर
क्या है ग़म\-ए\-दुनिया, उसे ख़ाक़ में डाल
मंडवे तले ग़रीब के, दो फूल खिल रहे हैं



        

Related content:

Lyrics in Unicode - Devanagari
Lyrics:
      

ho saath agar pahaluu me.n ik mast\-e\-shabaab
ik jaam ho aur haath me.n shero.n kii qitaab
ik saaz ho aur saaz pe gaatii ho hasiinaa
ban jaae ye viiraanaa bahaaro.n kaa javaab

ma.nDave tale Gariib ke, do phuul khil rahe hai.n
ai raat tuu na jaanaa, ai chaa.Nd tuu na jaanaa
ye naubahaar, chupake se dekho, nazare.n na tum milaanaa
ma.nDave tale Gariib ke, do phuul khil rahe hai.n

mausam\-e\-ishq hai, zaraa hosh sambhaal
haasil tujhe mahabuub hai, armaa.N nikaal
kuchh baat to karale, nahii.n kal kii Kabar
kyaa hai Gam\-e\-duniyaa, use Kaaq me.n Daal
ma.nDave tale Gariib ke, do phuul khil rahe hai.n