गाना / Title: बचना ज़रा ये ज़माना है बुरा - bachanaa zaraa ye zamaanaa hai buraa

चित्रपट / Film: Milaap

संगीतकार / Music Director: N Dutta

गीतकार / Lyricist: साहिर-(Sahir)

गायक / Singer(s): मोहम्मद रफ़ी-(Mohammad Rafi)Geeta

Lyrics in English - ASCII
देवनागरी बोल :
          



बचना ज़रा ये ज़माना है बुरा
कभी मेरी गली में न आना

मेरी गली में आने वाले हो जाते हैं ग़म के हवाले
इन राहों से जो भी गुज़रे सोच समझ कर दिल को उछाले
बड़े बड़े दिल यहाँ बनते हैं निशाना
बचना ज़रा यह ज़माना ...

नैन लड़ा कर दिल को लुभाना दिल को लुभा कर पास बुलाना
पास बुलाकर खुद घबराना तेरा भी जवाब नहीं वाह

आँख मिलाकर आँख चुराना आँख चुरा कर दिल को जलाना
दिल को जलाकर होश भुलाना होश भुलाकर मजनूं बनाना
इन लैलाओं का है यह खेल पुराना
बचना ज़रा यह ज़माना ...

शोख़ी समझें शर्म\-ओ\-हया को आप बुलाएं अपनी कज़ा को
और फिर मांगे हमसे हरजाना
बचना ज़रा यह ज़माना ...



        

Related content:

Lyrics in Unicode - Devanagari
Lyrics:
      

bachanaa zaraa ye zamaanaa hai buraa
kabhii merii galii me.n na aanaa

merii galii me.n aane vaale ho jaate hai.n Gam ke havaale
in raaho.n se jo bhii guzare soch samajh kar dil ko uchhaale
ba.De ba.De dil yahaa.N banate hai.n nishaanaa
bachanaa zaraa yah zamaanaa ...

nain la.Daa kar dil ko lubhaanaa dil ko lubhaa kar paas bulaanaa
paas bulaakar khud ghabaraanaa teraa bhii javaab nahii.n vaah

aa.Nkh milaakar aa.Nkh churaanaa aa.Nkh churaa kar dil ko jalaanaa
dil ko jalaakar hosh bhulaanaa hosh bhulaakar majanuu.n banaanaa
in lailaa_o.n kaa hai yah khel puraanaa
bachanaa zaraa yah zamaanaa ...

shoKii samajhe.n sharm\-o\-hayaa ko aap bulaa_e.n apanii kazaa ko
aur phir maa.nge hamase harajaanaa
bachanaa zaraa yah zamaanaa ...