गाना / Title: मेरी निगाह ने क्या काम लाजवाब किया - merii nigaah ne kyaa kaam laajawaab kiyaa

चित्रपट / Film: Mohabbat Isko Kahete Hain

संगीतकार / Music Director: Khaiyyam

गीतकार / Lyricist: मजरूह सुलतान पुरी-(Majrooh)

गायक / Singer(s): मोहम्मद रफ़ी-(Mohammad Rafi)

Lyrics in English - ASCII
देवनागरी बोल :
          



(मेरी निगाह ने क्या काम लाजवाब किया)-२
उन्हीं को लाखों हसीनों मे इन्तख़्वाब किया

(वो आए घर मे बहार आके रुक गई जैसे)-२
फ़िज़ा मे फूल कि डाली सी झुक गई जैसे
(कुछ इस अदा से किसी शोख़ ने हिजाब किया)-२
मेरी निगाह ने क्या

वो ज़ुल्फ़-ए-नाज़ खुली खुल के कुछ ढलक सी गई
सितारे टूट पड़े चाँदनी छलक सी गई
जो मैंने चेहरा-ए-जाना को बेनक़ाब किया
मेरी निगाह ने क्या काम लाजवाब किया
मेरी निगाह ने क्या

(ये मेरे गीत में जो रंग है नज़ाकत है)-२
ये सब उसी निगाह-ए-नाज़ की इनायत है
के मुझसे ज़र्रे को चमका के आफ़ताब किया
मेरी निगाह ने क्या ...



        

Related content:

Lyrics in Unicode - Devanagari
Lyrics:
      

(merii nigaah ne kyaa kaam laajawaab kiyaa)-2
unhii.n ko laakho.n hasiino.n me intaKwaab kiyaa

(wo aa_e ghar me bahaar aake ruk ga_ii jaise)-2
fizaa me phuul ki Daalii sii jhuk ga_ii jaise
(kuchh is adaa se kisii shoK ne hijaab kiyaa)-2
merii nigaah ne kyaa

wo zulf-e-naaz khulii khul ke kuchh Dhalak sii ga_ii
sitaare TuuT pa.De chaa.Ndanii chhalak sii ga_ii
jo mai.nne cheharaa-e-jaanaa ko benaqaab kiyaa
merii nigaah ne kyaa kaam laajawaab kiyaa
merii nigaah ne kyaa

(ye mere giit me.n jo ra.ng hai nazaakat hai)-2
ye sab usii nigaah-e-naaz kii inaayat hai
ke mujhase zarre ko chamakaa ke aafataab kiyaa
merii nigaah ne kyaa ...