गाना / Title: बस एक ही सुर में, एक ही लय में ( Gulzaar recital ) - bas ek hii sur me.n, ek hii lay me.n ##( Gulzaar recital )##

चित्रपट / Film: Bol Re Papiharaa

संगीतकार / Music Director:

गीतकार / Lyricist:

गायक / Singer(s): गुलजार-(Gulzar)

Lyrics in English - ASCII
देवनागरी बोल :
          




बस एक ही सुर में, एक ही लय में
सुबह से देख\-देख कैसे बरस रहा
है उदास पानी
फुहार के मलमली दुपट्टे से
उड़ रहे हैं
तमाम मौसम टपक रहा है

पलक\-पलक रिस रही है ये
कायनात सारी
हर एक शय भीग\-भीग कर 
कैसी बोझल सी हो गयी है

दिमाग की गीली\-गीली सोचों से
भीगी\-भीगी उदास यादें
टपक रही हैं

थके\-थके से बदन में
बस धीरे\-धीरे साँसों का
गरम दूबन(?) चल रहा है



        

Related content:

Lyrics in Unicode - Devanagari
Lyrics:
      


bas ek hii sur me.n, ek hii lay me.n
subah se dekh\-dekh kaise baras rahaa
hai udaas paanii
phuhaar ke malamalii dupaTTe se
u.D rahe hai.n
tamaam mausam Tapak rahaa hai

palak\-palak ris rahii hai ye
kaayanaat saarii
har ek shay bhiig\-bhiig kar 
kaisii bojhal sii ho gayii hai

dimaag kii giilii\-giilii socho.n se
bhiigii\-bhiigii udaas yAde.n
Tapak rahii hai.n

thake\-thake se badan me.n
bas dhIre\-dhIre saa.Nso.n kaa
garam duuban(?) chal rahaa hai