गाना / Title: निर्बल से लड़ाई बलवान की, यह कहानी है दीये और तूफ़ान की - nirbal se la.Daaii balavaan kii, yah kahaanii hai diiye aur tuufaan kii

चित्रपट / Film: Toofan Aur Diya

संगीतकार / Music Director: Vasant Desai

गीतकार / Lyricist: भरत व्यास-(Bharat Vyas)

गायक / Singer(s): Manna De

Lyrics in English - ASCII
देवनागरी बोल :
          



निर्बल से लड़ाई बलवान की \-२
यह कहानी है दीये की और तूफ़ान की \-२

इक रात अंधियारी, थीं दिशाएं कारी\-कारी
मंद\-मंद पवन था चल रहा
अंधियारे को मिटाने, जग में ज्योत जगाने
एक छोटा\-सा दीया था कहीं जल रहा
अपनी धुन में मगन, उसके तन में अगन
उसकी लौ में लगन भगवान की
यह कहानी है दीये की और तूफ़ान की

कहीं दूर था तूफ़ान...
कहीं दूर था तूफ़ान, दीये से था बलवान
सारे जग को मसलने मचल रहा
झाड़ हों या पहाड़, दे वो पल में उखाड़
सोच\-सोच के ज़मीं पे था उछल रहा
एक नन्हा\-सा दीया, उसने हमला किया \-२
अब देखो लीला विधि के विधान की
यह कहानी है दीये की और तूफ़ान की

दुनिया ने साथ छोड़ा, ममता ने मुख मोड़ा
अब दीये पे यह दुख पड़ने लगा \-२
पर हिम्मत न हार, मन में मरना विचार
अत्याचार की हवा से लड़ने लगा
सर उठाना या झुकाना, या भलाई में मर जाना
घड़ी आई उसके भी इम्तेहान की
यह कहानी है दीये की और तूफ़ान की

फिर ऐसी घड़ी आई \- २, घनघोर घटा छाई
अब दीये का भी दिल लगा काँपने
बड़े ज़ोर से तूफ़ान, आया भरता उड़ान
उस छोटे से दीये का बल मापने
तब दीया दुखियारा, वह बिचारा बेसहारा
चला दाव पे लगाने, (बाज़ी प्राण की) \- ४
चला दाव पे लगाने, बाज़ी प्राण की
यह कहानी है दीये की और तूफ़ान की

लड़ते\-लड़ते वो थका, फिर भी बुझ न सका \-२
उसकी ज्योत में था बल रे सच्चाई का
चाहे था वो कमज़ोर, पर टूटी नहीं डोर
उसने बीड़ा था उठाया रे भलाई का
हुआ नहीं वो निराश, चली जब तक साँस
उसे आस थी प्रभु के वरदान की
यह कहानी है दीये की और तूफ़ान की

सर पटक\-पटक, पग झटक\-झटक
न हटा पाया दीये को अपनी आन से
बार\-बार वार कर, अंत में हार कर
तूफ़ान भागा रे मैदान से
अत्याचार से उभर, जली ज्योत अमर
रही अमर निशानी बलिदान की
यह कहानी है दीये की और तूफ़ान की
निर्बल से लड़ाई बलवान की
यह कहानी है दीये की और तूफ़ान की



        

Related content:

Lyrics in Unicode - Devanagari
Lyrics:
      

nirbal se la.Daaii balavaan kii \-2
yah kahaanii hai diiye kii aur tuufaan kii \-2

ik raat a.ndhiyaarii, thii.n dishaae.n kaarii\-kaarii
ma.nd\-ma.nd pavan thaa chal rahaa
a.ndhiyaare ko miTaane, jag me.n jyot jagaane
ek chhoTaa\-saa diiyaa thaa kahii.n jal rahaa
apanii dhun me.n magan, usake tan me.n agan
usakii lau me.n lagan bhagavaan kii
yah kahaanii hai diiye kii aur tuufaan kii

kahii.n duur thaa tuufaan...
kahii.n duur thaa tuufaan, diiye se thaa balavaan
saare jag ko masalane machal rahaa
jhaa.D ho.n yaa pahaa.D, de vo pal me.n ukhaa.D
soch\-soch ke zamii.n pe thaa uchhal rahaa
ek nanhaa\-saa diiyaa, usane hamalaa kiyaa \-2
ab dekho liilaa vidhi ke vidhaan kii
yah kahaanii hai diiye kii aur tuufaan kii

duniyaa ne saath chho.Daa, mamataa ne mukh mo.Daa
ab diiye pe yah dukh pa.Dane lagaa \-2
par himmat na haar, man me.n maranaa vichaar
atyaachaar kii havaa se la.Dane lagaa
sar uThaanaa yaa jhukaanaa, yaa bhalaaii me.n mar jaanaa
gha.Dii aaii usake bhii imtehaan kii
yah kahaanii hai diiye kii aur tuufaan kii

phir aisii gha.Dii aaii \- 2, ghanaghor ghaTaa chhaaii
ab diiye kaa bhii dil lagaa kaa.Npane
ba.De zor se tuufaan, aayaa bharataa u.Daan
us chhoTe se diiye kaa bal maapane
tab diiyaa dukhiyaaraa, vah bichaaraa besahaaraa
chalaa daav pe lagaane, (baazii praaN kii) \- 4
chalaa daav pe lagaane, baazii praaN kii
yah kahaanii hai diiye kii aur tuufaan kii

la.Date\-la.Date vo thakaa, phir bhii bujh na sakaa \-2
usakii jyot me.n thaa bal re sachchaaii kaa
chaahe thaa vo kamazor, par TuuTii nahii.n Dor
usane bii.Daa thaa uThaayaa re bhalaaii kaa
huaa nahii.n vo niraash, chalii jab tak saa.Ns
use aas thii prabhu ke varadaan kii
yah kahaanii hai diiye kii aur tuufaan kii

sar paTak\-paTak, pag jhaTak\-jhaTak
na haTaa paayaa diiye ko apanii aan se
baar\-baar vaar kar, a.nt me.n haar kar
tuufaan bhaagaa re maidaan se
atyaachaar se ubhar, jalii jyot amar
rahii amar nishaanii balidaan kii
yah kahaanii hai diiye kii aur tuufaan kii
nirbal se la.Daaii balavaan kii
yah kahaanii hai diiye kii aur tuufaan kii