गाना / Title: तुम गगन के चंद्रमा हो, मैं धरा की धूल हूँ - tum gagan ke cha.ndramaa ho, mai.n dharaa kii dhuul huu.N

चित्रपट / Film: Sati Savitri

संगीतकार / Music Director: लक्ष्मीकांत - प्यारेलाल-(Laxmikant-Pyarelal)

गीतकार / Lyricist: भरत व्यास-(Bharat Vyas)

गायक / Singer(s): लता मंगेशकर-(Lata Mangeshkar)Manna De

Lyrics in English - ASCII
देवनागरी बोल :
          


तुम गगन के चंद्रमा हो, मैं धरा की धूल हूँ
तुम प्रणय के देवता हो, मैं समर्पित फूल हूँ
तुम हो पूजा मैं पुजारी, तुम सुधा मैं प्यास हूँ

तुम महासागर की सीमा, मैं किनारे की लहर
तुम महासंगीत के स्वर, मैं अधूरी साँस हूँ
तुम हो काया मैं हूँ छाया, तुम क्षमा मैं भूल हूँ

तुम उषा की लालिमा हो, भोर का सिंदूर हो
मेरे प्राणों की हो गुँजन, मेरे मन की मयूर हो
तुम हो पूजा मैं पुजारी, तुम सुधा मैं प्यास हूँ


        

Related content:

Lyrics in Unicode - Devanagari
Lyrics:
      
tum gagan ke cha.ndramaa ho, mai.n dharaa kii dhuul huu.N
tum praNaya ke devataa ho, mai.n samarpit phuul huu.N
tum ho puujaa mai.n pujaarii, tum sudhaa mai.n pyaas huu.N

tum mahaasaagar kii siimaa, mai.n kinaare kii lahar
tum mahaasa.ngiit ke svar, mai.n adhuurii saa.Ns huu.N
tum ho kaayaa mai.n huu.N chhaayaa, tum kshamaa mai.n bhuul huu.N

tum ushhaa kii laalimaa ho, bhor kaa si.nduur ho
mere praaNo.n kii ho gu.Njan, mere man kii mayuur ho
tum ho puujaa mai.n pujaarii, tum sudhaa mai.n pyaas huu.N