गाना / Title: कौन विराने में देखेगा बहार - kaun viraane me.n dekhegaa bahaar

चित्रपट / Film: non-Film

संगीतकार / Music Director:

गीतकार / Lyricist:

गायक / Singer(s): Saigal

Lyrics in English - ASCII
देवनागरी बोल :
          



एक अहल-ए-दर्द ने सुनसान जो देखा कफ़स
बोला अब आती नहीं है क्यों सदा-ए-अंदली
बालों पर दो-चार दिखला कर कहा सैयाद ने
येह निशानी रह गई है अब बजा-ए-अंदली

कौन वीराने में देखेगा बहार (३)

कौन वीराने में देखेगा बहार 
फूल जंगल में खिले किनके लिये (३)

दिल का ज़ामन तू तेरा क्या ऐतबार (२)
पहले इक ज़ामन हो ज़ामन के लिये (३)

लाश पर इबरत यह कहती थी 'अमीर' (२)
आये थे दुनिया में इस दिन के लिये (४)



        

Related content:

Lyrics in Unicode - Devanagari
Lyrics:
      

ek ahal-e-dard ne sunasaan jo dekhaa kafas
bolaa ab aatii nahii.n hai kyo.n sadaa-e-a.ndalii
baalo.n par do-chaar dikhalaa kar kahaa saiyaad ne
yeh nishaanii rah gaI hai ab bajaa-e-a.ndalii

kaun viiraane me.n dekhegaa bahaar (3)

kaun viiraane me.n dekhegaa bahaar 
phuul ja.ngal me.n khile kinake liye (3)

dil kaa zaaman tuu teraa kyaa aitabaar (2)
pahale ik zaaman ho zaaman ke liye (3)

laash par ibarat yah kahatii thii 'amiir' (2)
aaye the duniyaa me.n is din ke liye (4)