गाना / Title: ऐ गुलबदन, ऐ गुलबदन, फूलों की महक काँटों की चुभन - ai gulabadan, ai gulabadan, phuulo.n kii mahak kaa.NTo.n kii chubhan

चित्रपट / Film: Professor

संगीतकार / Music Director: शंकर - जयकिशन-(Shankar-Jaikishan)

गीतकार / Lyricist: हसरत-(Hasrat)

गायक / Singer(s): मोहम्मद रफ़ी-(Mohammad Rafi)

Lyrics in English - ASCII
देवनागरी बोल :
          



ऐ गुलबदन, ऐ गुलबदन, फूलों की महक काँटों की चुभन
तुझे देख के कहता है मेरा मन
कहीं आज किसी से मुहब्बत ना हो जाए

क्या हसीन मोड़ पर आ गई ज़िंदगानी
की हक़ीक़त न बन जाए मेरी कहानी
जब आहें भरे ये ठंडी पवन
सीने में सुलग उठती है अगन
तुझे देख के ...

क्या अजीब रंग में सज रही है ख़ुदाई
की हर इक चीज़ मालिक ने सुंदर बनाई
नदिया का चमकता है दरपन
मुख़ड़ा देखें सपनों की दुल्हन
तुझे देख के ...

मैं तुम्हीं से यूँ आँखें मिलाता चला हूँ
कि तुम्हीं को मैं तुमसे चुराता चला हूँ
मत पूछो मेरा दीवानापन
आकाश से ऊँची दिल की उड़न
तुझे देख के ...



        

Related content:

Lyrics in Unicode - Devanagari
Lyrics:
      

ai gulabadan, ai gulabadan, phuulo.n kii mahak kaa.NTo.n kii chubhan
tujhe dekh ke kahataa hai meraa man
kahii.n aaj kisii se muhabbat naa ho jaae

kyaa hasiin mo.D par aa ga_ii zi.ndagaanii
kii haqiiqat na ban jaae merii kahaanii
jab aahe.n bhare ye Tha.nDii pavan
siine me.n sulag uThatii hai agan
tujhe dekh ke ...

kyaa ajiib ra.ng me.n saj rahii hai Kudaaii
kii har ik chiiz maalik ne su.ndar banaaii
nadiyaa kaa chamakataa hai darapan
muKa.Daa dekhe.n sapano.n kii dulhan
tujhe dekh ke ...

mai.n tumhii.n se yuu.N aa.Nkhe.n milaataa chalaa huu.N
ki tumhii.n ko mai.n tumase churaataa chalaa huu.N
mat puuchho meraa diivaanaapan
aakaash se uu.Nchii dil kii u.Dan
tujhe dekh ke ...