गाना / Title: हर कोई चाहता है, इक मुट्ठी आसमान - har koii chaahataa hai, ik muTThii aasamaan

चित्रपट / Film: Ek Mutthi Aasmaan

संगीतकार / Music Director: मदन मोहन-(Madan Mohan)

गीतकार / Lyricist: इन्दीवर-(Indeevar)

गायक / Singer(s): किशोर कुमार-(Kishore Kumar)

Lyrics in English - ASCII
देवनागरी बोल :
          



हर कोई चाहता है, इक मुट्ठी आसमान
हर कोई ढूँढता है, इक मुट्ठी आसमान
जो सीने से लगा ले, हो ऐसा इक जहान
हर कोई चाहता है, इक मुट्ठी आसमान, हर कोई ...

चाँद सितारों का मेला है, ये दिल फिर भी अकेला है \- २
महफ़िल में है शहनाई, फिर भी दिल में है तनहाई
है साँसों में जैसे कई तूफ़ान, हर कोई, हर कोई ...


मिलता नहीं क्या यहाँ ऐ दिल, फिर क्यों ना मिले गीतों की मंजिल 
चलते जाना यूँ ही राहों में, भर ही लगा कोई बाहों मैं 
हमेशा रहेगा ना दिल वीरान, हर कोई, हर कोई ...


हर कोई ...
मुझको जीने का कोई सहारा मिला, ग़म के तूफ़ान में कोई किनारा मिला 
सूनी सूनी थी जो राहें, बन गयी प्यार की बाहें 
लो खुशियों से मेरी हुई पहचान, हर कोई, हर कोई ...


सौदा है रिश्तेदारी, यारी एक दिखावा है 
अपना क्या है दुनिया में, मन का एक छलावा है 
कहाँ मिलेगा तुझको यार, ज़हर भरी दुनिया में प्यार 
सभी अजनबी हैं सभी अन्जान \- २, हर कोई, हर कोई ...


इन्सान होना काफ़ी है, कोई फ़रिश्ता नहीं तो क्या 
दिलों के रिश्ते क्या काम हैं, खून का रिश्ता नहीं तो क्या 
गैर ही बनते हैं अपने, सच हो जाते हैं सपने 
जो दिल का हो सच्चा अगर इन्सान, हर कोई, हर कोई ...



        

Related content:

Lyrics in Unicode - Devanagari
Lyrics:
      

har koii chaahataa hai, ik muTThii aasamaan
har koii Dhuu.NDhataa hai, ik muTThii aasamaan
jo siine se lagaa le, ho aisaa ik jahaan
har koii chaahataa hai, ik muTThii aasamaan, har koii ...

chaa.Nd sitaaro.n kaa melaa hai, ye dil phir bhii akelaa hai \- 2
mahafil me.n hai shahanaaii, phir bhii dil me.n hai tanahaaii
hai saa.Nso.n me.n jaise ka_ii tuufaan, har koii, har koii ...


milataa nahii.n kyaa yahaa.N ai dil, phir kyo.n nA mile giito.n kI ma.njil 
chalate jaanaa yuu.N hii rAho.n me.n, bhar hii lagaa koI baaho.n mai.n 
hameshaa rahegaa nA dil vIraan, har koI, har koI ...


har koI ...
mujhako jiine kA koI sahaaraa milaa, Gam ke tuufaan me.n koI kinaaraa milaa 
suunii suunii thI jo raahe.n, ban gayii pyaar kii baahe.n 
lo khushiyo.n se merI huii pahachaan, har koI, har koI ...


saudaa hai rishtedaarii, yaarii ek dikhaavaa hai 
apanA kyA hai duniyA me.n, man kA ek chhalaavaa hai 
kahaa.N milegaa tujhako yaar, zahar bharii duniyA me.n pyaar 
sabhii ajanabii hai.n sabhii anjaan \- 2, har koI, har koI ...


insaan honaa kaafii hai, koI farishtaa nahii.n to kyA 
dilo.n ke rishte kyA kaam hai.n, khuun kA rishtaa nahii.n to kyA 
gair hii banate hai.n apane, sach ho jaate hai.n sapane 
jo dil kA ho sachchaa agar insaan, har koI, har koI ...