गाना / Title: जुर्म\-ए\-उल्फ़त पे हमें लोग सज़ा देते हैं - jurm\-e\-ulfat pe hame.n log sazaa dete hai.n

चित्रपट / Film: Taj Mahal

संगीतकार / Music Director: Roshan

गीतकार / Lyricist: साहिर-(Sahir)

गायक / Singer(s): लता मंगेशकर-(Lata Mangeshkar)

Lyrics in English - ASCII
देवनागरी बोल :
          



जुर्म\-ए\-उल्फ़त पे हमें लोग सज़ा देते हैं \- २
कैसे नादान हैं, शोलों को हवा देते हैं 
कैसे नादान हैं 

हमसे दीवाने कहीं तर के वफ़ा करते हैं \- २
जान जाये कि रहे बात निभा देते हैं 
जान जाये...

आप दौलत के तराज़ू मैं दिलों को तौलें \- २
हम मोहब्बत से मोहब्बत का सिला देते हैं 
हम मोहब्बत से...

तख़्त क्या चीज़ है और लाल\-ओ\-जवाहर क्या है \- २
इश्क़ वाले तो खुदाई भी लुट देते हैं 
इश्क़ वाले ...

हमने दिल दे भी दिया एहद\-ए\-वफ़ा ले भी लिया \- २
आप अब शोख से देदें जो सज़ा देते हैं 
जुर्म\-ए\-उल्फ़त पे हमें लोग सज़ा देते हैं 



        

Related content:

Lyrics in Unicode - Devanagari
Lyrics:
      

jurm\-e\-ulfat pe hame.n log sazaa dete hai.n \- 2
kaise naadaan hai.n, sholo.n ko havaa dete hai.n 
kaise naadaan hai.n 

hamase dIvaane kahii.n tar ke vafaa karate hai.n \- 2
jaan jaaye ki rahe baat nibhaa dete hai.n 
jaan jaaye...

aap daulat ke taraazuu mai.n dilo.n ko taule.n \- 2
ham mohabbat se mohabbat kA silaa dete hai.n 
ham mohabbat se...

taKt kyA chiiz hai aur laal\-o\-javaahar kyA hai \- 2
ishq vAle to khudaa_ii bhI luTa dete hai.n 
ishq vaale ...

hamane dil de bhI diyaa ehad\-e\-vafaa le bhI liyaa \- 2
aap ab shokh se dede.n jo sazaa dete hai.n 
jurm\-e\-ulfat pe hame.n log sazaa dete hai.n