गाना / Title: ये हसरत थी के इस दुनिया में बस दो काम कर जाते - ye hasarat thii ke is duniyaa me.n bas do kaam kar jaate

चित्रपट / Film: Nausherwan-e-Adil

संगीतकार / Music Director: सी. रामचंद्र-(C Ramchandra)

गीतकार / Lyricist: Parvez Shamsi

गायक / Singer(s): मोहम्मद रफ़ी-(Mohammad Rafi)

Lyrics in English - ASCII
देवनागरी बोल :
          



यह हसरत थी के इस दुनिया में बस दो काम कर जाते
तुम्हारी याद में जीते, तुम्हारे ग़म में मर जाते

यह दुनिया डूबती तूफ़ान आता इस क़यामत का
अगर दम भर को आँखों में मेरी आँसू ठहर जाते

तुम्हारी याद आ\-आकर मेरे नश्तर चुभोती है
मगर न दिल के सारे ज़ख़्म इतने दिन में भर जाते

कहाँ तक दुख उठाएं तेरी फ़ुर्क़त और जुदाई के
अगर मरना ही था एक दिन, न क्यूँ फिर आज मर जाते



        

Related content:

Lyrics in Unicode - Devanagari
Lyrics:
      

yah hasarat thii ke is duniyaa me.n bas do kaam kar jaate
tumhaarii yaad me.n jiite, tumhaare Gam me.n mar jaate

yah duniyaa Duubatii tuufaan aataa is qayaamat kaa
agar dam bhar ko aa.Nkho.n me.n merii aa.Nsuu Thahar jaate

tumhaarii yaad aa\-aakar mere nashtar chubhotii hai
magar na dil ke saare zaKm itane din me.n bhar jaate

kahaa.N tak dukh uThaae.n terii furqat aur judaaii ke
agar maranaa hii thaa ek din, na kyuu.N phir aaj mar jaate