गाना / Title: जिन रातों में नींद उड़ जाती है, क्या कहर की रातें होती हैं - jin raato.n me.n nii.nd u.D jaatii hai, kyaa kahar kii raate.n hotii hai.n

चित्रपट / Film: Raat Ki Rani

संगीतकार / Music Director: Hansraj Behl

गीतकार / Lyricist: Arzoo Lucknowi

गायक / Singer(s): मोहम्मद रफ़ी-(Mohammad Rafi)

Lyrics in English - ASCII
देवनागरी बोल :
          



जिन रातों में नींद उड़ जाती है, क्या कहर की रातें होती हैं 
दरवाजों से टकरा जाते हैं, दीवारों से बातें होती हैं 

घिरघिर के जो बदल आते हैं और बिन बरसे खुल जाते हैं 
आशाओं की झूठी दुनिया में सूखी बरसातें होती है 

जब वो नहीं होते पहलू में और लम्बी रातें होती है 
याद आके सताती रहती है और दिल से बातें होती हैं 

हँसाने में जो आँसू आते हैं, दो तस्वीरें दिखलाते हैं 
हर रोज जनाजे उठाते हैं, हर रोज बारातें होती है 

हिम्मत किसकी है जो पुछ सके ये आरजु\-ए\-सौदाई से 
क्यूँ साहिब आखिर अकेले में ये किससे बातें होती हैं 



        

Related content:

Lyrics in Unicode - Devanagari
Lyrics:
      

jin raato.n me.n nii.nd u.D jaatii hai, kyA kahar kii raate.n hotI hai.n 
daravaajo.n se Takaraa jaate hai.n, dIvaaro.n se baate.n hotI hai.n 

ghiraghir ke jo badal aate hai.n aur bin barase khul jaate hai.n 
aashaao.n kii jhUThii duniyA me.n sUkhii barasaate.n hotI hai 

jab vo nahii.n hote pahaluu me.n aur lambI raate.n hotI hai 
yaad aake sataatii rahatii hai aur dil se baate.n hotI hai.n 

ha.Nsaane me.n jo aa.Nsuu aate hai.n, do tasvIre.n dikhalaate hai.n 
har roj janaaje uThaate hai.n, har roj baaraate.n hotI hai 

himmat kisakii hai jo puchh sake ye aaraju\-e\-saudaaii se 
kyuu.N saahib aakhir akele me.n ye kisase baate.n hotI hai.n