गाना / Title: ये क्या ज़िंदगी है, ये कैसा जहाँ है - ye kyaa zi.ndagii hai, ye kaisaa jahaa.N hai

चित्रपट / Film: Kohinoor

संगीतकार / Music Director: नौशाद अली-(Naushad)

गीतकार / Lyricist: Shakeel

गायक / Singer(s): मोहम्मद रफ़ी-(Mohammad Rafi)

Lyrics in English - ASCII
देवनागरी बोल :
          



ज़ख़मों से कलेजा चूर हुआ
हद हो गई ग़म में नालों की
क्या हूँही तबाही होती है
दुनिया में मोहब्बत\-वालों की

ये क्या ज़िंदगी है, ये कैसा जहाँ है \-२
जिधर देखिये ज़ुल्म की दास्तां है \-२

कहीं है कफ़स में किसीका बसेरा
कहीं है निगाहों में ग़म का अंधेरा
कहीं दिल का लुटता हुआ कारवां है
जिधर देखिये ज़ुल्म की दास्तां है \-२

यहाँ आदमी आदमी का है दुश्मन
यहाँ चाक इनसानियत का है दामन
मोहब्बत का उजड़ा हुआ आशियां है
जिधर देखिये ज़ुल्म की दास्तां है \-२

ये बेरहम दुनिया समझ में न आए
यहाँ कर रहे हैं सितमग़र ख़ुदाई
न जाने तू ऐ दुनियावाले कहाँ है
जिधर देखिये ज़ुल्म की दास्तां है \-२

ये क्या ज़िंदगी है, ये कैसा जहाँ है
जिधर देखिये ज़ुल्म की दास्तां है



        

Related content:

Lyrics in Unicode - Devanagari
Lyrics:
      

zaKamo.n se kalejaa chuur huaa
had ho ga_ii Gam me.n naalo.n kii
kyaa huu.Nhii tabaahii hotii hai
duniyaa me.n mohabbat\-vaalo.n kii

ye kyaa zi.ndagii hai, ye kaisaa jahaa.N hai \-2
jidhar dekhiye zulm kii daastaa.n hai \-2

kahii.n hai kafas me.n kisiikaa baseraa
kahii.n hai nigaaho.n me.n Gam kaa a.ndheraa
kahii.n dil kaa luTataa huaa kaaravaa.n hai
jidhar dekhiye zulm kii daastaa.n hai \-2

yahaa.N aadamii aadamii kaa hai dushman
yahaa.N chaak inasaaniyat kaa hai daaman
mohabbat kaa uja.Daa huaa aashiyaa.n hai
jidhar dekhiye zulm kii daastaa.n hai \-2

ye beraham duniyaa samajh me.n na aae
yahaa.N kar rahe hai.n sitamaGar Kudaaii
na jaane tuu ai duniyaavaale kahaa.N hai
jidhar dekhiye zulm kii daastaa.n hai \-2

ye kyaa zi.ndagii hai, ye kaisaa jahaa.N hai
jidhar dekhiye zulm kii daastaa.n hai