गाना / Title: झूम बराबर झूम शराबि - jhuum baraabar jhuum sharaabi

चित्रपट / Film: 5 Rifles

संगीतकार / Music Director: Aziz Nazan

गीतकार / Lyricist: Naza Sholapuri

गायक / Singer(s): Aziz Nazan

Lyrics in English - ASCII
देवनागरी बोल :
          



ना हरम में, ना सुकूँ मिलता है बुतखाने में
चैन मिलता है तो साक़ी तेरे मैखाने में

झूम, झूम, झूम
( झूम बराबर झूम शराबी, झूम बराबर झूम ) \-३
काली घटा है, आ आ..., मस्त फ़ज़ा है, आ आ...
काली घटा है मस्त फ़ज़ा है, जाम उठाकर घूम घूम घूम
झूम बराबर ...

आज अँगूर की बेटी से मुहौब्बत कर ले
शेख साहब की नसीहत से बग़ावत कर ले
इसकी बेटी ने उठा रखी है सर पर दुनिया
ये तो अच्छा हुआ के अँगूर को बेटा ना हुआ
कमसेकम सूरत\-ए\-साक़ी का नज़ारा कर ले
आके मैख़ाने में जीने का सहारा कर ले
आँख मिलते ही जवानी का मज़ा आयेगा
तुझको अँगूर के पानी का मज़ा आयेगा
हर नज़र अपनी बसद शौक़ गुलाबी कर दे
इतनी पीले के ज़माने को शराबी कर दे
जाम जब सामने आये तो मुकरना कैसा
बात जब पीने की आजाये तो डरना कैसा
धूम मची है, आ आ..., मैख़ाने में, आ आ...
धूम मची है मैख़ाने में, तू भी मचा ले धूम धूम धूम
झूम बराबर ...

इसके पीनेसे तबीयत में रवानी आये
इसको बूढ़ा भी जो पीले तो जवानी आये
पीने वाले तुझे आजाएगा पीने का मज़ा
इसके हर घूँट में पोशीदा है जीने का मज़ा
बात तो जब है के तू मै का परस्तार बने 
तू नज़र डाल दे जिस पर वोही मैख़्वार बने
मौसम\-ए\-गुल में तो पीने का मज़ा आता है
पीने वालों को ही जीने का मज़ा आता है
जाम उठाले, आ आ..., मुँह से लगाले, आ आ...
जाम उठाले, मुँह से लगाले, मुँह से लगाकर चूम चूम चूम
झूम बराबर ...

जो भी आता है यहाँ पीके मचल जाता है
जब नज़र साक़ी की पड़ती है सम्भल जाता है
आ इधर झूमके साक़ी का लेके नाम उठा
देख वो अब्र उठा तू भी ज़रा जाम उठा
इस क़दर पीले के रग\-रग में सुरूर आजाये
कसरत मै से तेरे चेहरे पे नूर आजाये
इसके हर कतरे में नाज़ाँ है निहाँ दरियादिली
इसके पीनेसे पता होती है के ज़िन्दादिली
शान से पीले, आ आ..., शान से जीले, आ आ...
शान से पीले शान से जीले, घूम नशे में घूम घूम घूम
झूम बराबर ...



        

Related content:

Lyrics in Unicode - Devanagari
Lyrics:
      

naa haram me.n, naa sukuu.N milataa hai butakhaane me.n
chain milataa hai to saaqii tere maikhaane me.n

jhuum, jhuum, jhuum
( jhuum baraabar jhuum sharaabii, jhuum baraabar jhuum ) \-3
kaalii ghaTaa hai, aa aa..., mast fazaa hai, aa aa...
kaalii ghaTaa hai mast fazaa hai, jaam uThaakar ghuum ghuum ghuum
jhuum baraabar ...

aaj a.Nguur kii beTii se muhaubbat kar le
shekh saahab kii nasiihat se baGaavat kar le
isakii beTii ne uThaa rakhii hai sar par duniyaa
ye to achchhaa huaa ke a.Nguur ko beTaa naa huaa
kamasekam sUrat\-e\-saaqii kaa nazaaraa kar le
aake maiKaane me.n jiine kaa sahaaraa kar le
aa.Nkh milate hii javaanii kaa mazaa aayegaa
tujhako a.Nguur ke paanii kaa mazaa aayegaa
har nazar apanii basad shauq gulaabii kar de
itanii piile ke zamaane ko sharaabii kar de
jaam jab saamane aaye to mukaranaa kaisaa
baat jab piine kI aajaaye to Daranaa kaisaa
dhuum machii hai, aa aa..., maiKaane me.n, aa aa...
dhuum machii hai maiKaane me.n, tuu bhii machaa le dhuum dhuum dhuum
jhuum baraabar ...

isake piinese tabiiyat me.n ravaanii aaye
isako buu.Dhaa bhii jo piile to javaanii aaye
piine vaale tujhe aajaaegaa piine kaa mazaa
isake har ghuu.NT me.n poshiidaa hai jiine kaa mazaa
baat to jab hai ke tuu mai kaa parastaar bane 
tuu nazar Daal de jis par vohii maiKvaar bane
mausam\-e\-gul me.n to piine kaa mazaa aataa hai
piine vaalo.n ko hii jiine kaa mazaa aataa hai
jaam uThaale, aa aa..., mu.Nh se lagaale, aa aa...
jaam uThaale, mu.Nh se lagaale, mu.Nh se lagaakar chuum chuum chuum
jhuum baraabar ...

jo bhii aataa hai yahaa.N piike machal jaataa hai
jab nazar saaqii kI pa.Datii hai sambhal jaataa hai
aa idhar jhuumake saaqii kaa leke naam uThaa
dekh vo abr uThaa tuu bhii zaraa jaam uThaa
is qadar piile ke rag\-rag me.n suruur aajaaye
kasarat mai se tere chehare pe nuur aajaaye
isake har katare me.n naazaa.N hai nihaa.N dariyaadilii
isake piinese pataa hotii hai ke zindaadilii
shaan se piile, aa aa..., shaan se jiile, aa aa...
shaan se piile shaan se jiile, ghuum nashe me.n ghuum ghuum ghuum
jhuum baraabar ...