गाना / Title: रहते थे कभी जिनके दिल में, हम जान से भी प्यारों की तरह - rahate the kabhii jinake dil me.n, ham jaan se bhii pyaaro.n kii tarah

चित्रपट / Film: Mamta

संगीतकार / Music Director: Roshan

गीतकार / Lyricist: मजरूह सुलतान पुरी-(Majrooh)

गायक / Singer(s): लता मंगेशकर-(Lata Mangeshkar)

Lyrics in English - ASCII
देवनागरी बोल :
          



रहते थे कभी जिनके दिल में
हम जान से भी प्यारों की तरह
बैठे हैं उन्ही के कूचे में
हम आज गुनहगारों की तरह \- २

दावा था जिन्हें हमदर्दी का
खुद आके न पूछा हाल कभी \- २
महफ़िल में बुलाया है हम पे \- २ 
हँसने को सितमगारों की तरह \- २
रहते थे...

बरसों से सुलगते तन मन पर
अश्कों के तो छींटे दे ना सके \- २
तपते हुए दिल के ज़ख्मों पर \- २
बरसे भी तो अंगारों की तरह \- २
रहते थे...

सौ रुप धरे जीने के लिये
बैठे हैं हज़ारों ज़हर पिये \- २
ठोकर ना लगाना हम खुद हैं \- २
गिरती हुई दीवारों की तरह \- २
रहते थे...



        

Related content:

Lyrics in Unicode - Devanagari
Lyrics:
      

rahate the kabhii jinake dil me.n
ham jaan se bhii pyaaro.n kii tarah
baiThe hai.n unhii ke kuuche me.n
ham aaj gunahagaaro.n kii tarah \- 2

daavaa thaa jinhe.n hamadardii kaa
khud aake na puuchhaa haal kabhii \- 2
mahafil me.n bulaayaa hai ham pe \- 2 
ha.Nsane ko sitamagaaro.n kii tarah \- 2
rahate the...

baraso.n se sulagate tan man par
ashko.n ke to chhii.nTe de naa sake \- 2
tapate hue dil ke zakhmo.n par \- 2
barase bhii to a.ngaaro.n kii tarah \- 2
rahate the...

sau rup dhare jiine ke liye
baiThe hai.n hazaaro.n zahar piye \- 2
Thokar naa lagaanaa ham khud hai.n \- 2
giratii huii diivaaro.n kii tarah \- 2
rahate the...