गाना / Title: जहाँ भी देखा उन्हें सर झुका दिया मैं ने Mukesh Gazal - jahaa.N bhii dekhaa unhe.n sar jhukaa diyaa mai.n ne ##Mukesh Gazal ##

चित्रपट / Film: non-Film

संगीतकार / Music Director: Murli Manohar Swarup

गीतकार / Lyricist: Ishratjahan Begum

गायक / Singer(s): मुकेश-(Mukesh)

Lyrics in English - ASCII
देवनागरी बोल :
          



जहाँ भी देखा उन्हे सर झुका दिया मैं ने
ये क्या किया कि खुद ही को मिटा दिया मैं ने

चमन से दूर भी रहकर अरे चमन वालों
कली को फूल को हँसना सिखा दिया मैं ने

तड़प के लाख गिरे बिजलियां तो क्या ग़म है
खुद अपने हाथों नशेमन जला दिया मैं ने

गिरा भी रहने दो इशरत सफ़ीना तूफ़ां में
हर एक मौज को साहिल बना दिया मैं ने



        

Related content:

Lyrics in Unicode - Devanagari
Lyrics:
      

jahaa.N bhii dekhaa unhe sar jhukaa diyaa mai.n ne
ye kyaa kiyaa ki khud hii ko miTaa diyaa mai.n ne

chaman se duur bhii rahakar are chaman vaalo.n
kalii ko phUl ko ha.Nsanaa sikhaa diyaa mai.n ne

ta.Dap ke laakh gire bijaliyaa.n to kyaa Gam hai
khud apane haatho.n nasheman jalaa diyaa mai.n ne

giraa bhii rahane do isharat safiinaa tUfaa.n me.n
har ek mauj ko saahil banaa diyaa mai.n ne