गाना / Title: हैरत से तक रहा जहान-ए-वफ़ा मुझे - hairat se tak rahaa jahaan-e-vafaa mujhe

चित्रपट / Film: "अज्ञात"-(Unknown)

संगीतकार / Music Director: Amarnath

गीतकार / Lyricist: Sagar Nizami

गायक / Singer(s): Master Madan

Lyrics in English - ASCII
देवनागरी बोल :
          




हैरत से तक रहा जहान\-ए\-वफ़ा मुझे
तुम ने बना दिया है मुहब्बत में क्या मुझे

हर मंज़िल\-ए\-हयात से गुम कर गया मुझे
मुड़ मुड़ के राह में वो तेरा देखना मुझे

कैसे ख़ुदी ने मौज को कश्ती बना दिया
होश\-ए\-ख़ुदा है अब न ग़म\-ए\-नख़ुदा मुझे

साक़ी बने हुए हैं वो `साग़र' शब\-ए\-विसाल
इस वक़्त कोई मेरी क़सम देखता मुझे



        

Related content:

Lyrics in Unicode - Devanagari
Lyrics:
      


hairat se tak rahaa jahaan\-e\-vafaa mujhe
tum ne banaa diyaa hai muhabbat me.n kyaa mujhe

har ma.nzil\-e\-hayaat se gum kar gayaa mujhe
mu.D mu.D ke raah me.n vo teraa dekhanaa mujhe

kaise Kudii ne mauj ko kashtii banaa diyaa
hosh\-e\-Kudaa hai ab na Gam\-e\-naKudaa mujhe

saaqii bane hue hai.n vo `saaGar' shab\-e\-visaal
is vaqt koii merii qasam dekhataa mujhe