गाना / Title: मतलब निकल गया है तो, पहचानते नहीं - matalab nikal gayaa hai to, pahachaanate nahii.n

चित्रपट / Film: Amanat

संगीतकार / Music Director: Ravi

गीतकार / Lyricist: साहिर-(Sahir)

गायक / Singer(s): मोहम्मद रफ़ी-(Mohammad Rafi)

Lyrics in English - ASCII
देवनागरी बोल :
          



मतलब निकल गया है तो, पहचानते नहीं
यूँ जा रहे हैं जैसे हमें, जानते नहीं

अपनी गरज़ थी जब तो लिपटना क़बूल था
बाहों के दायरे में सिमटना क़बूल था
अब हम मना रहे हैं मगर मानते नहीं

हमने तुम्हें पसंद किया, क्या बुरा किया
रुतबा ही कुछ बलन्द किया क्या बुरा किया
हर इक गली की ख़ाक तो हम छानते नहीं

मुँह फेर कर न जाओ हमारे क़रीब से
मिलता है कोई चाहने वाला नसीब से
इस तरह आशिक़ों पे कमाँ तानते नहीं



        

Related content:

Lyrics in Unicode - Devanagari
Lyrics:
      

matalab nikal gayaa hai to, pahachaanate nahii.n
yuu.N jaa rahe hai.n jaise hame.n, jaanate nahii.n

apanii garaz thii jab to lipaTanaa qabuul thaa
baaho.n ke daayare me.n simaTanaa qabuul thaa
ab ham manaa rahe hai.n magar maanate nahii.n

hamane tumhe.n pasa.nd kiyaa, kyaa buraa kiyaa
rutabaa hii kuchh baland kiyaa kyaa buraa kiyaa
har ik galii kii Kaak to ham chhaanate nahii.n

mu.Nh pher kar na jaao hamaare qariib se
milataa hai koii chaahane vaalaa nasiib se
is tarah aashiqo.n pe kamaa.N taanate nahii.n