गाना / Title: कुछ शेर सुनाता हूँ मैं - kuchh sher sunaataa huu.N mai.n

चित्रपट / Film: एक दिल सौ अफसाने-(Ek Dil Sau Afsaane)

संगीतकार / Music Director: शंकर - जयकिशन-(Shankar-Jaikishan)

गीतकार / Lyricist: हसरत-(Hasrat)

गायक / Singer(s): मुकेश-(Mukesh)

Lyrics in English - ASCII
देवनागरी बोल :
          




कुछ शेर सुनाता हूँ मैं 
जो तुझसे मुखातिब है
इक हुस्न परी दिल में है, ये उनसे मुखातिब है 
कुछ शेर सुनाता हूँ में ... 

सीखी है तुमसे फूल ने, हँसने की हर अदा 
सीखी हवा ने तुमसे ही, चलने की हर अदा 
आईना तुमको देख के, हैरान हो गया 
इक बेज़ुबान तुमसे, पशेमान हो गया 
कितनी भी तारीफ़ करूँ, रुकती नहीं ज़ुबान 
रुकती नहीं ज़ुबान 
कुछ शेर सुनाता हूँ मैं ...

हाथों की लोच रस भरी शाखों की दास्तां 
नाज़ुक हथेलियों पे वो, मेहंदी का गुल्सिताँ 
पड़ जाये तुमपे धूप तो, संवलाये गोरा तन 
मखमल पे तुम चलो तो, छिले पाओं गुलबदन 
कितनी भी तारीफ़ करूँ, रुकती नहीं ज़ुबान 
रुकती नहीं ज़ुबान 
कुछ शेर सुनाता हूँ मैं ... 

आँखें अगर झुकें तो, मोहब्बत मचल उठे 
नज़रें अगर उठें तो, क़यामत मचल उठे 
अंदाज़ मैं हुज़ूर का, सानी नहीं कोई 
दोनों जहान में ऐसी, जवानी नहीं कोई 
कितनी भी तारीफ़ करूँ, रुकती नहीं ज़ुबान 
रुकती नहीं ज़ुबान 
कुछ शेर सुनाता हूँ मैं ...




        

Related content:

Lyrics in Unicode - Devanagari
Lyrics:
      


kuchh sher sunaataa huu.N mai.n 
jo tujhase mukhAtib hai
ik husn parii dil me.n hai, ye unase mukhAtib hai 
kuchh sher sunaataa huu.N me.n ... 

sIkhii hai tumase phuul ne, ha.Nsane kii har adA 
sIkhii havaa ne tumase hii, chalane kii har adA 
aa_iinaa tumako dekh ke, hairaan ho gayaa 
ik bezubaan tumase, pashemaan ho gayaa 
kitanii bhI taarIf karuu.N, rukatii nahii.n zubaan 
rukatI nahii.n zubaan 
kuchh sher sunaataa huu.N mai.n ...

hAtho.n kI loch ras bharii shaakho.n kii daastaa.n 
naazuk hatheliyo.n pe vo, meha.ndii kA gulsitaa.N 
pa.D jAye tumape dhuup to, sa.nvalaaye goraa tan 
makhamal pe tum chalo to, chhile paao.n gulabadan 
kitanii bhI taarIf karuu.N, rukatii nahii.n zubaan 
rukatii nahii.n zubaan 
kuchh sher sunaataa huu.N mai.n ... 

aa.Nkhe.n agar jhuke.n to, mohabbat machal uThe 
nazare.n agar uThe.n to, qayaamat machal uThe 
a.ndaaz mai.n huzuur kA, saanii nahii.n koI 
dono.n jahaan me.n aisI, javAnI nahii.n koI 
kitanii bhI taarIf karuu.N, rukatii nahii.n zubaan 
rukatii nahii.n zubaan 
kuchh sher sunaataa huu.N mai.n ...