गाना / Title: मेरी दुनिया लुट रही थी और मैं खामोश था - merii duniyaa luT rahii thii aur mai.n khaamosh thaa

चित्रपट / Film: Mr. and Mrs. 55

संगीतकार / Music Director: ओ. पी. नय्यर-(O P Nayyar)

गीतकार / Lyricist: मजरूह सुलतान पुरी-(Majrooh)

गायक / Singer(s): मोहम्मद रफ़ी-(Mohammad Rafi)chorus

Lyrics in English - ASCII
देवनागरी बोल :
          




मेरी दुनिया लुट रही थी और मैं खामोश था
टुकड़े टुकड़े दिल के चुनता किस को इतना होश था

आँख में आँसू न थे और जल रहा था दिल जिगर
रो रही थी हसरतें चुप\-चाप था मैं बेखबर
कैसे आता होश में जो पहले ही बेहोश था
टुकड़े टुकड़े दिल के चुनता ...

करवाँ दिल का लुटा बैठा हूँ मंज़िल के क़रीब
मैं ने खुद कश्ती डुबो दी जाके साहिल के क़रीब
ये ज़मीं चुप\-चाप थी और आसमाँ खामोश था
टुकड़े टुकड़े दिल के चुनता ...




        

Related content:

Lyrics in Unicode - Devanagari
Lyrics:
      


merii duniyaa luT rahii thii aur mai.n khaamosh thaa
Tuka.De Tuka.De dil ke chunataa kis ko itanaa hosh thaa

aa.Nkh me.n aa.Nsuu na the aur jal rahaa thaa dil jigar
ro rahii thii hasarate.n chup\-chaap thaa mai.n bekhabar
kaise aataa hosh me.n jo pahale hii behosh thaa
Tuka.De Tuka.De dil ke chunataa ...

karavaa.N dil kaa luTaa baiThaa huu.N ma.nzil ke qariib
mai.n ne khud kashtii Dubo dii jaake saahil ke qariib
ye zamii.n chup\-chaap thii aur aasamaa.N khaamosh thaa
Tuka.De Tuka.De dil ke chunataa ...