गाना / Title: आप के पास जो आएगा, पिघल जाएगा - aap ke paas jo aaegaa, pighal jaaegaa

चित्रपट / Film: Kaajal

संगीतकार / Music Director: Ravi

गीतकार / Lyricist: साहिर-(Sahir)

गायक / Singer(s): महेन्द्र कपूर-(Mahendra Kapoor)

Lyrics in English - ASCII
देवनागरी बोल :
          



आप के भीगे हुए जिसम से आँच आती है
दिल को गर्माती है, जज़्बात को भड़काती है

आप के पास जो आएगा, पिघल जाएगा
इस हरारत से जो उलझेगा, वो जल जाएगा

आप का हुस्न वो शबनम है जो शोलों में पले
गर्म खुश्बुओं में तपते हुए रँगों में ढले
किसका दिल है जो सम्भाले से सम्भल जाएगा

होंठ हैं या किसी शायर की दुआओं का जवाब
ज़ुल्फ़ हैं या किसी सावन के तलबगार का ख़्वाब
ऐसे जलवों को जो देखेगा मचल जाएगा

इस कदर हुस्न ज़माने में न देखा न सुना
उसका क्या कहना जिसे आपने हमराज़ चुना
उसकी तक़दीर का ईनाम बदल जाएगा





        

Related content:

Lyrics in Unicode - Devanagari
Lyrics:
      

aap ke bhiige hue jisam se aa.Nch aatii hai
dil ko garmaatii hai, jazbaat ko bha.Dakaatii hai

aap ke paas jo aaegaa, pighal jaaegaa
is haraarat se jo ulajhegaa, vo jal jaaegaa

aap kaa husn vo shabanam hai jo sholo.n me.n pale
garm khushbuo.n me.n tapate hue ra.Ngo.n me.n Dhale
kisakaa dil hai jo sambhaale se sambhal jaaegaa

ho.nTh hai.n yaa kisii shaayar kii du_aao.n kaa javaab
zulf hai.n yaa kisii saavan ke talabagaar kaa Kvaab
aise jalavo.n ko jo dekhegaa machal jaaegaa

is kadar husn zamaane me.n na dekhaa na sunaa
usakaa kyaa kahanaa jise aapane hamaraaz chunaa
usakii taqadiir kaa iinaam badal jaaegaa