गाना / Title: सब को मालूम है मैं शराबी नहीं pankaj udhaas - sab ko maaluum hai mai.n sharaabii nahii.n ## pankaj udhaas ##

चित्रपट / Film: "अज्ञात"-(Unknown)

संगीतकार / Music Director:

गीतकार / Lyricist:

गायक / Singer(s): Pankaj Udhas

Lyrics in English - ASCII
देवनागरी बोल :
          



सब को मालूम है मैं शराबी नहीं
फिर भी कोई पिलाए तो मैं क्या करूँ
सिर्फ़ एक बार नज़रों से नज़रें मिलें
और क़सम टूट जाए तो मैं क्या करूँ

मुझ को मैं खुश समझता है सब बड़ा खुश
क्यूँ के उनकी तरह लड़खड़ाता हूँ मैं
मेरी रग रग में नशा मुहब्बत का है
जो समझ में ना आए तो मैं क्या करूँ

हाल सुन कर मेरा सहमे\-सहमे हैं वो
कोई आया है ज़ुल्फ़ें बिखेरे हुए
मौत और ज़िंदगी दोनों हैरान हैं
दम निकलने न पाए तो मैं क्या करूँ

कैसी लूट कैसी चाहत कहाँ की खता
बेखुदी में हाय अनवर खिदू(?) का नशा
ज़िंदगी एक नशे के सिवा कुछ नहीं
तुम को पीना न आए तो मैं क्या करूँ



        

Related content:

Lyrics in Unicode - Devanagari
Lyrics:
      

sab ko maaluum hai mai.n sharaabii nahii.n
phir bhii koI pilaae to mai.n kyaa karuu.N
sirf ek baar nazaro.n se nazare.n mile.n
aur qasam TuuT jaae to mai.n kyaa karuu.N

mujh ko mai.n khush samajhataa hai sab ba.Daa khush
kyuu.N ke unakii tarah la.Dakha.Daataa huu.N mai.n
merii rag rag me.n nashaa muhabbat kaa hai
jo samajh me.n naa aae to mai.n kyaa karuu.N

haal sun kar meraa sahame\-sahame hai.n vo
koI aayaa hai zulfe.n bikhere hue
maut aur zi.ndagii dono.n hairaan hai.n
dam nikalane na paae to mai.n kyaa karuu.N

kaisii luuT kaisii chaahat kahaa.N kii khataa
bekhudii me.n haay anavar khiduu(?) kaa nashaa
zi.ndagii ek nashe ke sivaa kuchh nahii.n
tum ko piinaa na aae to mai.n kyaa karuu.N