गाना / Title: हटो काहे को झूटीइ बनाओ बतियाँ - haTo kaahe ko jhuuTiii banaa_o batiyaa.N

चित्रपट / Film: Manzil

संगीतकार / Music Director: सचिन देव बर्मन-(S D Burman)

गीतकार / Lyricist: मजरूह सुलतान पुरी-(Majrooh)

गायक / Singer(s): Manna De

Lyrics in English - ASCII
देवनागरी बोल :
          




हटो काहे को झूटीइ बनाओ बतियाँ

ग़ैर का साथ है और रोज़ मुलाक़ातें हैं
प्यार है उस के लिये और हम से फ़क़त बातें हैं
जाओ जाओ जाओ झूठी बात न बनाओ
जल रही विरह में सैंया और न जलाओ
...
हटो काहे को झूटी ...

ये उड़ी उड़ी सी रंगत
ये खुले खुले से गेसु
तेरी सुबह कह रही है
तेरी रात का फ़साना
देखो जी किसी का प्यार हम से न छुपाओ
सब हमें पता है प्यारे नैन न झुकाओ
सुनो कहती है क्या क्या तुम्हरी अखियाँ
हटो काहे को झूटी ...




        

Related content:

Lyrics in Unicode - Devanagari
Lyrics:
      


haTo kaahe ko jhuuTiii banaa_o batiyaa.N

Gair kaa saath hai aur roz mulaaqaate.n hai.n
pyaar hai us ke liye aur ham se faqat baate.n hai.n
jaao jaao jaao jhuuThii baat na banaao
jal rahii virah me.n sai.nyaa aur na jalaao
...
haTo kaahe ko jhuuTii ...

ye u.Dii u.Dii sii ra.ngat
ye khule khule se gesu
terii subah kah rahii hai
terii raat kaa fasaanaa
dekho jii kisii kaa pyaar ham se na chhupaao
sab hame.n pataa hai pyaare nain na jhukaao
suno kahatii hai kyaa kyaa tumharii akhiyaa.N
haTo kaahe ko jhuuTii ...